‘वित्त वर्ष 2018-19 में वृद्धि होगी पर हल्की उम्मीद’

मुंबई, देश की अर्थिक वृद्धि दर अगले साल सुधरेगी पर यह सुधार “धीमी गति’’ का होगा। वित्तीय सेवा कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच की रपट के अनुसार चालू वित्त वर्ष में वृद्धि 6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान और 2018-19 में इसके 7.2 प्रतिशत रहने की संभावना है।

इस वैश्विक के मुताबिक आर्थिक वृद्धि में सुधार अभी उपभोग मांग के कारण ही रहेगा। सरकार की ओर से चुनाव पूर्व सार्वजनिक खर्च बढ़ाए जाने से इसको मदद मिलेगी। पर निवेश मांग का वैसा समर्थन नहीं रहेगा क्यों कि अर्थव्यवस्था में अब भी उत्पादन क्षमता का पूरा उपयोग नहीं हो पा रहा है साथ ही राकोषीय घाटे को जीडीपी के 3.2 फीसदी तक लाने के लक्ष्य के कारण खर्च करने में सरकार के हाथ भी बंधे रहेंगे।

रपट में आगे कहा गया, “हम उम्मीद करते हैं कि 2018 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर में धीमा सुधार जारी रहेगा। वृद्धि दर 2017-18 में 6.5 प्रतिशत से बढ़कर 2018-19 में 7.2 प्रतिशत हो जाने की संभावना है।”

Leave a Reply