यमन विद्रोहियों ने 40 से अधिक मीडियाकर्मियों को बंधक बना कर रखा है : निगरानी संस्था

सना,  पिछले हफ्ते यमन की राजधानी सना पर पूरी तरह से कब्जा करने वाले यमनी विद्रोहियों ने 40 से अधिक मीडियाकर्मियों को बंधक बना रखा है। प्रेस निगरानी संस्थानों ने आज यह जानकारी दी और उनकी फौरन रिहाई की मांग की।

निगरानी संस्थाओं ने बताया कि इन मीडियाकर्मियों में यमन टूडे के कर्मचारी भी शामिल हैं। यह टीवी चैनल पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह से संबद्ध है जिनकी हुती विद्रोहियों ने सोमवार को हत्या कर दी।

विद्रोहियों ने शनिवार को टीवी के सना स्थित कार्यालय रॉकेट से दागे जाने वाले ग्रेनेड से हमला किया और तीन पहरेदारों को घायल कर दिया।

पत्रकारों के संरक्षण के लिए बनी एक समिति के प्रवक्ता ने पत्रकारों की फौरन रिहाई की मांग करते हुए कहा कि यमन टूडे पर हुती का हमला प्रेस स्वतंत्रता के दमन को दर्शाता है।

सालेह के जनरल पीपुल्स कांग्रेस के एक अधिकारी ने बताया कि बंधक बनाए गए कुछ कर्मचारियों को जेल भेजा गया है और अन्य को टीवी कार्यालयों में रखा गया है।

अधिकारी ने बताया कि हुती पत्रकारों पर दबाव डाल रहे हैं कि वे अपना कवरेज बदलें, कुछ खास बयान जारी करें और पूर्व राष्ट्रपति सालेह के विश्वासघात की खबर दें और उन पर अरब गठबंधन के लिए काम करने का भी आरोप लगाएं। लेकिन पत्रकारों ने ऐसा करने से इंकार कर दिया।

Leave a Reply