छत्तीसगढ़ निवेश के लिए सबसे उपयुक्त राज्य: रमन सिंह

रायपुर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अमेरिका के महा वाणिज्यदूत एडगार्ड डी केगन से कहा है कि छत्तीसगढ़ निवेश के लिए सबसे उपयुक्त राज्य है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां यह जानकारी दी।

सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री रमन सिंह से आज यहां उनके निवास पर अमेरिका के भारत स्थित महा वाणिज्यदूत (कांसुलेट जनरल) एडगार्ड डी केगन ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ निवेश की दृष्टि से सबसे उपयुक्त स्थान है। यहां पर सभी आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध है। यह राज्य देश के मध्य में स्थित है तथा यहां खनिज संसाधन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। सिंह ने कहा कि यहां पर नया रायपुर विकसित किया गया है, जो देश की स्मार्ट सिटी में शामिल है।

मुख्यमंत्री ने चर्चा के दौरान कहा कि राज्य को नक्सल मुक्त बनाने के लिए ठोस प्रयास किये जा रहे हैं। सरगुजा क्षेत्र नक्सल मुक्त हो गया है। बस्तर भी जल्द नक्सल मुक्त हो जाएगा। वहां सुदूर इलाकों में सड़कों का निर्माण हो रहा है। बेहतर शिक्षा प्रदान करने के लिए आवासीय स्कूल बनाए गए हैं। दंतेवाड़ा जिले की पूरी तस्वीर ही बदल गई है, वहां पर निर्मित एजुकेशन सिटी में हजारों बच्चे शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए जिला अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति की गई हैं। टेलीकॉम और मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए नए मोबाइल टॉवर लगाए जा रहे हैं। बस्तर नेट के माध्यम से इंटरनेट की सुविधा दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ खाद्य सुरक्षा प्रदान करने वाला देश का पहला राज्य है। यहां पर निर्धन वर्ग में एक रूपए प्रति किलोग्राम की दर चावल दिया जा रहा है। साथ नमक भी निःशुल्क दिया जा रहा है, इसके कारण कुपोषण सहित मातृमृत्य दर और शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आई है।

सिंह ने कहा कि राज्य और केन्द्र सरकार के सहयोग से शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सर्वशिक्षा अभियान सहित महत्वपूर्ण योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल से केन्द्र से राज्य को मिलने वाली सहायता 42 प्रतिशत हो गई है। इससे राज्य के विकास कार्य में तेजी आयी है और छत्तीसगढ़ जल्द ही देश के अग्रणी राज्यों में शामिल होगा।

अधिकारियों ने बताया कि एडगार्ड डी केगन ने रायपुर स्थित देश और प्रदेश के पहले वन स्टॉप सेंटर ‘सखी’ का अवलोकन किया। इन केन्द्रों को देखने के बाद केगन ने कहा कि महिलाओं के विरुद्ध हो रही हिंसा को समाप्त करने और उनको हिंसा से संरक्षण और सुरक्षा प्रदान करने के लिए यह सराहनीय प्रयास है। यह पहल केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की है। इसमें एक ही छत के नीचे महिलाओं को चिकित्सकीय, विधिक सहायता, मनोवैज्ञानिक सलाह और परामर्श की सुविधा और मार्गदर्शन के साथ साथ संरक्षण भी प्रदान किया जा रहा है। महिलाओं के लिए भयमुक्त वातावरण बनाने में और उन्हें न्याय दिलाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है।