मधुमेह मुक्त भारत हम बनाऐंगे हम बनाऐंगे

उज्जैन। विश्व मधुमेह दिवस 14 नवम्बर पर श्री चिकित्सा संसार पारमार्थिक न्यास द्वारा दशहरा मैदान कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में आयोजित करीब 2000 बच्चों एवं नगर के प्रमुख समाजसेवी, जनप्रतिनिधि एवं शिक्षकों की उपस्थिति में मधुमेह मुक्त भारत के नारों से एवं संकल्प से गूंज गया।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे के नागरिक सम्मान के अवसर पर उन्होंने सम्बोधित करते हुए बच्चियों को अपना बड़ा भाई कहते हुए जीवन की सफलता के 5 सूत्र बताएं।
मधुमेह पर विशेषज्ञ के रूप में डाॅ. एस.के. पाठक ने मधुमेह के प्रकार और उसके फैलने के कारण बताएं और कहा कि जीवन शैली में बदलाव के द्वारा ही हम मधुमेह पर नियंत्रण कर सकते है। इसके लिए उन्होंने फास्ट फूड, पिज्जा, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक्स आदि का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है यह जानकारी भी दी। साथ ही योग, ध्यान, प्राणायाम, आहार-विहार पर भी प्रकाश डाला।
डाॅ. गोविन्द पाटिल जबलपुर ने चिकित्सा संसार के मधुमेह जागृति अभियान के लोगों पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि हम योग, ध्यान, नियमिति दिनचर्या और संतुलित आहार को ही अपना लेंगे तो मधुमेह नियंत्रित हो जाएगा। विधायक श्री मोहन यादव ने अपने सम्बोधन में मधुमेह, जीवन शैली और भाजपा के प्रयासों  पर प्रकाश डाला।
मुख्य अतिथि के रूप में बीजेपी मेडिकल सेल के राष्ट्रीय सह-संयोजक डाॅ. दिनेश उपाध्याय दिल्ली ने जीवन शैली पर प्रकाश डालते हुए मधुमेह मुक्त भारत और देशी गाय से ही प्राप्त घी की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यदि एक बच्चा एक व्यक्ति के जीवन में एक साल में बदलाव ला पाया तो हमारा मधुमेह मुक्त भारत का आज लिया संकल्प पूरा हो जाएगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता सिंहस्थ प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री दीवाकर नातु ने की। इस अवसर पर नगर के प्रमुख जननेता एवं समाजसेवी श्री शैलेन्द्र पाराशर, श्री प्रकाश चित्तोड़ा, श्री प्रकाश खण्डेलवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. विनोद गुप्ता, नगर निगम शिक्षा समिति अध्यक्ष श्रीमती नीलूरानी खत्री, डाॅ. राम अरोरा, डाॅ. योगेन्द्र तिवारी, डाॅ. कैलाश देवड़ा, डाॅ. संदीप देवड़ा आदि थे।
इस अवसर पर दो पुस्तकों का उज्जैन हेल्थ डायरेक्ट्री और मेरी यात्रा सफलता या सपना पुस्तक का विमोचन अतिथियों ने किया। स्कूल का स्टाफ एवं उपस्थित गणमान्य नागरिकों का ब्लड, ब्लड शुगर एवं वजन की जांच भी इस समारोह में की गई।
कार्यक्रम का संचालन पद्मजा रघुवंशी ने किया। कार्यक्रम का उद्देश्य एवं उपयोगिता पर प्रकाश अशोक खण्डेलवाल ने डाला।

Leave a Reply