ट्रंप के नेतृत्व में मजबूत होगा भारत-अमेरिका नेतृत्व : व्हाइट हाउस

वाशिंगटन,  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व में क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दों, व्यापार, अर्थव्यवस्था और आतंकवाद सहित विभिन्न क्षेत्रों में भारत और अमेरिका के संबंध भविष्य में और मजबूत होंगे। इस बात का भरोसा व्हाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जताया।

व्हाइट हाउस के प्रधान उपप्रेस सचिव राज शाह ने कल भारतीय पत्रकारों के एक समूह के साथ बातचीत में कहा, ‘‘लोकतंत्र के प्रति साझा प्रतिबद्धता के कारण भारत अमेरिका का स्वभाविक साझेदार है और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई तथा अमेरिकी सुरक्षा सुरक्षा के लिए यह क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण है।’’ मनीला में आसियान शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच हुई दूसरी द्विपक्षीय वार्ता के कुछ ही घंटे बाद शाह ने उक्त टिप्पणी की है।

शाह ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध मजबूत हैं और मौजूदा राष्ट्रपति के शासनकाल में यह और प्रगाढ़ होंगे।

व्हाइट हाउस के प्रेस विंग में अभी तक के सर्वोच्च भारतीय-अमेरिकी पदाधिकारी शाह का कहना है कि भारत-अमेरिका संबंध अपने पैरों पर खड़े होंगे और उन्हें किसी सहारे की जरूरत नहीं पड़ेगी।

उन्होंने कहा कि अमेरिका और चीन के मुकाबले भारत और अमेरिका में काफी कुछ समान है।

शाह ने कहा, ‘‘ट्रंप मोदी को पसंद करते हैं। आप जानते हैं कि वह अन्य नेताओं के बारे में भी बात करते हैं। जिस तरह वह कुछ अन्य नेताओं के बारे में बात करते हैं, जिन्हें वह पसंद करते हैं और जिनके साथ उनके संबंध अच्छे हैं, मोदी उनमें से एक हैं।’’ मोदी और ट्रंप की पहली मुलाकात जून में हुई, लेकिन जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्वाचन के बाद से दोनों नेताओं के बीच कई मुद्दों पर बातचीत हुई है।

शाह ने कहा, ‘‘उनकी आपस में खूब बनती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वह प्रधानमंत्री मोदी से प्रभावित हैं और आप जानते हैं कि इसमें मैं इससे ज्यादा नहीं बोल सकता, लेकिन आपके पास ऐसी परिस्थिति है, जहां वह एक-दूसरे को पसंद करते हैं।’’

Leave a Reply