दिवाली के अवसर पर सभी जायज लंबित मामलों में मेडिकल वीजा देगा भारत : सुषमा

नयी दिल्ली,  विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज कहा कि दिवाली के शुभ अवसर पर भारत सभी ऐसे लंबित मामलों में मेडिकल वीजा देगा जिनमें वीजा देना जायज है । उन्होंने पाकिस्तानी नागरिकों की ओर से किए गए ऐसे अनुरोधों पर सकारात्मक प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए यह टिप्पणी की ।

आमना शमीन नाम की एक पाकिस्तानी महिला की ओर से वीजा के लिए किए गए अनुरोध पर सुषमा ने कहा, ‘‘कृपया पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग से संपर्क करें । हम इसकी अनुमति देंगे ।’’ शमीन के पिता इलाज के लिए पहले से दिल्ली में हैं और वह उनसे मिलना चाहती हैं ।

सुषमा ने ट्वीट किया, ‘‘दीपावली के शुभ अवसर पर भारत आज ऐसे सभी लंबित मामलों में मेडिकल वीजा देगा जिनमें वीजा देना जायज है ।’’ कल सुषमा ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग को निर्देश दिया था कि वह भारत में इलाज के लिए एक पाकिस्तानी बच्चे को वीजा जारी करे ।

बच्चे के पिता काशिफ ने ट्विटर पर सुषमा से अनुरोध किया था कि अब्दुल्ला के इलाज के लिए मेडिकल वीजा दिया जाए । काशिफ ने उनसे कहा कि अब्दुल्ला को भारत में लीवर प्रतिरोपण के बाद की जांच करानी है ।

सुषमा ने कल काशिफ को जवाब देते हुए ट्वीट किया था, ‘‘दवा के अभाव में आपके बच्चे के इलाज पर असर नहीं पड़ना चाहिए । मैंने भारतीय उच्चायोग से कहा है कि वह मेडिकल वीजा जारी करें ।’’ काशिफ ने बताया था कि बच्चे की दवाएं खत्म होने वाली हैं और उन्हें भारत में तुरंत मेडिकल सलाह की जरूरत है ।

एक अन्य ट्वीट में कल सुषमा ने कहा कि उस पाकिस्तानी महिला के लिए भी मेडिकल वीजा को मंजूर दे दी गई है जो भारत में लीवर सर्जरी कराना चाहती है ।

महिला के बेटे रफीक मेमन ने सुषमा से इस मामले में दखल देकर उसकी मां के लिए वीजा का इंतजाम करने का अनुरोध किया था ।

सुषमा ने नजीर अहमद की ओर से वीजा के लिए किए गए अनुरोध पर भी सकारात्मक रुख अपनाया । नजीर का आठ साल का बेटा मोहम्मद अहमद पिछले एक साल से मेडिकल वीजा का इंतजार कर रहा है ।

उन्होंने कहा, ‘‘हम आपके 8 साल के बच्चे का भारत में इलाज कराने के लिए वीजा जारी करेंगे ।’’ सीमा पार आतंकवाद सहित अन्य मुद्दों को लेकर भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में कायम तनाव के बावजूद सुषमा पाकिस्तानी नागरिकों को मेडिकल वीजा देने में हमदर्दी दिखाती रही हैं ।