पाक पर नजर रखने में अमेरिका की मदद कर सकता है भारत : हैली

वाशिंगटन,  संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हैली ने कहा कि भारत, पाकिस्तान पर नजर रखने और यह सुनिश्चित करने में अमेरिका की मदद कर सकता है कि आतंकवादियों को पनाहगाह मुहैया कराने के लिए इस्लामाबाद को जवाबदेह ठहराया जाए।

अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया में आतंकवाद से लड़ने के लिए ट्रंप द्वारा हाल ही में घोषित की गई नई रणनीति का जिक्र करते हुए हैली ने कहा कि इस रणनीति की अहम बातों में से एक भारत के साथ अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी विकसित करना है।

उन्होंने कहा, ‘‘अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया में अमेरिका के हित आतंकवादियों की सुरक्षित पनाहगाहों को खत्म करने में हैं जो हमारे लिए खतरा हैं। साथ ही परमाणु हथियारों को आतंकवादियों की पहुंच से दूर रखना है, इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए हम हमारे राष्ट्रीय, ऊर्जा, अर्थव्यवस्था, कूटनीतिक और सेना के सभी तत्वों का इस्तेमाल करेंगे।’’ भारतीय मूल की राजदूत ने अमेरिका भारत मैत्री परिषद (यूएस इंडिया फ्रैंडशिप काउंसिल) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘हम भारत के साथ आर्थिक और सुरक्षा साझेदारी बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि ट्रंप ने पाकिस्तान द्वारा आतंकवादियों को समर्थन देने को लेकर कड़ा रूख अपनाया है।

हैली ने कहा, ‘‘पाकिस्तान लंबे समय से अमेरिका का पार्टनर रहा है। हम इसका सम्मान करते हैं और इसे महत्व देते हैं। लेकिन हम इस सरकार या किसी भी अन्य सरकार की यह बात बर्दाश्त नहीं कर सकते कि वह अमेरिकियों को निशाना बनाने वाले आतंकवादियों को पनाहगाह दें। इस नए रूख के लिए पाकिस्तान और भारत दोनों को संयम बरतने और समझने की जरुरत होगी।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका, अफगानिस्तान में खासतौर से आर्थिक और विकास के क्षेत्र में मदद के लिए भारत की ओर देख रहा है।

हैली ने कहा, ‘‘हमें अफगानिस्तान में वास्तव में भारत की मदद की जरुरत है। वे उस क्षेत्र में अच्छे पड़ोसी और साझेदार हैं।’’ अफगानिस्तान की स्थिरता में भारत का पहले ही अहम योगदान रहा है।

हैली ने कहा ‘‘हमें अफगानिस्तान में सचमुच भारत की मदद की जरूरत है। वे अच्छे पड़ोसी और पार्टनर हैं। ’’