उ.कोरिया के मुद्दे पर कूटनीतिक प्रयासों के असर की उम्मीद : केली

वाशिंगटन,  व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ जॉन केली ने आज कहा कि उत्तर कोरिया के परमाणु तथा मिसाइल खतरे से अभी निपटा जा सकता है लेकिन अलग-थलग पड़े इस देश को भविष्य में अमेरिका पर हमला करने की क्षमता विकसित करने नहीं दिया जा सकता।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाल ही में कहा था कि उनके शीर्ष राजनयिक उत्तर कोरिया के साथ बातचीत की कोशिश कर ‘‘समय बर्बाद’’ कर रहे हैं। बहरहाल, केली ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि देश (उत्तर कोरिया) द्वारा अपनी परमाणु क्षमता को और आगे बढ़ाने से पहले, कूटनीतिक प्रयास रंग लाएंगे।

केली का यह बयान ट्रंप के हालिया बयान से काफी नम्र था। पिछले तीन सप्ताह में ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के बीच लगातार वाकयुद्ध होता रहा है जिससे दोनों परमाणु संपन्न देशों के बीच तनाव और बढ़ गया।

व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि अमेरिकी लोगों को उत्तर कोरिया को लेकर चिंतित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया ने काफी अच्छी अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल क्षमता विकसित कर ली है और अब वह ऐसा पुन:प्रवेश वाहन विकसित कर रहा है, जिसकी आवश्यकता पृथ्वी के वायुमंडल में मिसाइल के पुन:प्रवेश करने के लिए होती है।