उत्तर कोरिया को लेकर कुछ तो किया जाना चाहिए : ट्रंप

वाशिंगटन,  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल और परमाणु परीक्षणों पर उनका नजरिया अलग है और यह समस्या ऐसी स्थिति में पहुंच गई है जहां ‘‘कुछ तो किया जाना चाहिए।’’ उत्तर कोरिया ने इस वर्ष फरवरी से किए गए 15 परीक्षणों के दौरान 22 मिसाइल दागे जिसमें से दो जापान के ऊपर से होकर गुजरीं। उत्तर कोरिया के इस कदम पर अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने तीखी प्रतिक्रिया दी।

ट्रंप ने कल अपने ओवल कार्यालय में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रुदू के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मेरा मानना है कि मेरा अलग नजरिया है और अन्य लोगों के मुकाबले अलग तरीका है। मुझे लगता है कि अन्य लोगों के मुकाबले शायद मैं ज्यादा दृढ़ता और सख्ती से सोचता हूं लेकिन मैं सुनता सबकी हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आखिरकार, मैं वही करुंगा जो अमेरिका के लिए सही होगा और जो दुनिया के लिए सही होगा क्योंकि यह सच में वैश्विक समस्या है।’’ एक सवाल का जवाब देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यह ऐसी समस्या है जिसे हल किया जाना चाहिए।

बाद में ट्रंप ने फॉक्स न्यूज से कहा कि दुनिया उत्तर कोरिया को लेकर एक ऐसी स्थिति पर पहुंच गई है जहां कुछ तो किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘यह समस्या कई साल पहले ही सुलझ जानी चाहिए थी । निश्चित तौर पर पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को इस पर ध्यान देना चाहिए था। अब यह समस्या काफी बढ़ गई है। कुछ तो किया जाना चाहिए। हम इसे ऐसा चलने नहीं दे सकते।’’