जेपी को उनकी 115वीं जयंती पर श्रद्धांजलि

नयी दिल्ली,  भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के विरुद्ध ‘सम्पूर्ण क्रांति’ का आह्वान कर विद्यार्थियों को इस बदलाव से जोड़ने वाले जयप्रकाश नारायण उर्फ जेपी को आज उनकी 115वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी गयी।

सम्पूर्ण क्रांति के दौरान जेपी के साथ जुड़े रहे और उनके शिष्य माने जाने वाले उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने ट्वीट किया, ‘‘महान स्वतंत्रता सेनानी एवं “सम्पूर्ण क्रान्ति आंदोलन” के जनक लोक नायक जय प्रकाश नारायण जी की जयंती पर शत शत नमन।’’ जेपी के आंदोलन से जुड़े रहे राज्यसभा सदस्य शरद यादव ने ट्वीट किया, ‘‘जेपी की जयंती पर देशवासियों को बधाई। हम सभी को, खास तौर से युवा पीढ़ी को उनके द्वारा दिखाए गए रास्तों पर चलना सुनिश्चित करना चाहिए।’’ सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया, ‘‘लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी का उनकी जयंती पर अभिनंदन। भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षण की दिशा में उनका योगदान अमूल्य है।’’ अल्पसंख्यक मामलों के केन्द्रीय मंत्री जुएल ओराम ने ट्वीट किया, ‘‘भारतीय राजनीति की दिशा बदलने वाले लोकनायक जय प्रकाश नारायण की जयंती पर हार्दिक श्रद्धांजलि।’’ केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने लिखा है, ‘‘लोकनायक जय प्रकाश नारायण को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। वह हमेशा लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए खड़े रहे और नि:स्वार्थ सेवा में विश्वास रखते थे।’’ स्वास्थ्य मंत्री जय प्रकाश नड्डा ने लिखा है, ‘‘लोकनायक जय प्रकाश नारायण जी की जयंती पर शत शत नमन। आपातकाल के समय जनता की बुलंद आवाज बन भारत में पुन: लोकतंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले लोक नायक जय प्रकाश नारायण जी की जयंती पर शत शत नमन।’’ इंदिरा को चुनौती देकर 1974 में सम्पूर्ण क्रांति की शुरुआत करने वाले जेपी का जन्म 11 अक्तूबर, 1902 को हुआ था। आठ अक्तूबर, 1979 को उनके निधन के बाद 1999 में उन्हें मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया।