अफगानिस्तान में सैनिक योगदान नहीं : भारत

नयी दिल्ली,  भारत और अमेरिका ने आज रक्षा संबंधों को और मजबूत करने के तौर तरीकों के साथ ही आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे पाक तथा अफगानिस्तान से जुड़े अहम मुद्दों पर भी चर्चा की। इस दौरान भारत ने साफ किया कि वह अफगानिस्तान में सैनिक नहीं भेजेगा।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और उनके अमेरिकी समकक्ष जेम्स मैटिस ने आज द्विपक्षीय रक्षा संबंधों समेत व्यापक विषयों पर चर्चा की।

सीतारमण ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हमारे पड़ोस की स्थिति और सीमा-पार आतंकवाद के बढ़ते खतरे पर विस्तार से चर्चा हुई। इस मुद्दे पर हम दोनों देशों के रूख में समानता बढ़ रही है।’’ उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष इस बात का महत्व समझते हैं कि उन लोगों को देखना होगा जो आतंकवाद को अपनी राष्ट्र नीति के उपकरण के तौर पर इस्तेमाल करते हैं और उस आधारभूत ढांचे को नष्ट किया जाये जो आतंकवाद का समर्थन करता है।