गुजरात का 2020 तक छह करोड़ पर्यटक आकर्षित करने का लक्ष्य,

गांधीनगर,  गुजरात ने 2020 तक राज्य में छह करोड़ पर्यटकों को आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है। राज्य को उम्मीद है कि वह अपने प्रचार अभियान के जरिये इस लक्ष्य को हासिल कर पाएगा। गुजरात की निगाह मुख्य रूप से युवा सैलानियों पर है जो कम दिनों के लिए पर्यटन पर जाना चाहते हैं।

इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल करने के लिए गुजरात कई तरह की पर्यटन गतिविधियों को आगे बढ़ रहा है।

गुजरात पर्यटन निगम के प्रबंध निदेशक जीनू दीवान ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘पिछले साल 4.2 करोड़ पर्यटक गुजरात आए थे। 2020 तक हमने छह करोड़ पर्यटकों को आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है। हम अपने त्योहारों के बारे में लोगों को बता रहे हैं और नए गंतव्य विकसित कर रहे हैं। हमारा ध्यान ऐसे युवाओं पर है जो कम समय के लिए पर्यटन पर जाना चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा कि युवा गुजरात कई तरह के आकर्षण पेश करता है। इसमें रोमांच, इको, बीच, त्योहार, विरासत और सीमा पर्यटन शामिल है।

उन्होंने कहा कि गुजरात में आने वाले सैलानियों में विदेशी पर्यटकों की संख्या सिर्फ दो प्रतिशत है। हम गुजरात को इटली, पूर्वी यूरोप, जापान और दक्षिण कोरिया तथा अन्य देशों में अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों के रूप में पेश कर रहे हैं।

दीवान ने कहा कि हमारा अनुमान है कि 2020 तक पर्यटकों की संख्या में पांच प्रतिशत का इजाफा होगा। हम अमेरिका और ब्रिटेन जैसे प्रमुख बाजारों पर विशेष ध्यान देंगे। उन्होंने कहा कि गुजरात ने 220 पर्यटन आधारित परियोजनाओं में 9,000 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित किया है। ‘‘हमें 2015 से 2020 के दौरान 220 परियोजनाओं के विकास और उसका ढांचा बनाने के लिए 9,000 करोड़ रुपये की निवेश प्रतिबद्धताएं मिली हैं।’’ दीवान ने बताया कि गुजरात सरकार विभिन्न घरेलू और वैश्विक मंचों पर गुजरात पर्यटन के प्रचार और ब्रांडिंग पर हर साल 200 करोड़ रुपये खर्च करती है।