उत्तर कोरिया ने ट्रंप की धमकी को ‘कुत्ते के भौंकने’ जैसा बताया

सोल,  उत्तर कोरिया ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उनके देश को बर्बाद करने की धमकी को तवज्जो ना देते हुए इसकी तुलना ‘‘कुत्ते के भौंकने’’ से की और कहा कि उत्तर कोरिया इस धमकी से नहीं डरेगा।

ट्रंप ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए अपने पहले संबोधन में उत्तर कोरिया को चेतावनी दी थी कि अगर उसने अमेरिका या उसके सहयोगी देशों पर हमला किया तो अमेरिका उसे ‘‘पूरी तरह बर्बाद’’ कर देगा।

संयुक्त राष्ट्र बैठकों के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग-हो को पत्रकारों ने ट्रंप के भाषण से संबंधित सवालों से घेर लिया और उत्तर कोरियाई मंत्री ने एक कहावत से इसका जवाब दिया।

उन्होंने कल अपने होटल में प्रवेश करते हुए कहा, ‘‘एक कहावत है कि कुत्ते कितना भी भौंकते रहे लेकिन कारवां चलता रहता हैं।’’ अगर वे धमकियों से हमें डराने की कोशिश कर रहे हैं तो वे निश्चित रूप से सपना देख रहे हैं।

दुनिया से अलग-थलग पड़े और आर्थिक संकट से जूझ रहे उत्तर कोरिया ने कहा कि उसे अमेरिका की आक्रामकता से बचाव करने के लिए परमाणु हथियारों की जरूरत है।

उत्तर कोरिया का लक्ष्य अमेरिका के मुख्य भूभाग तक मार करने की क्षमता विकसित करना रहा है और हाल के सप्ताह में उसने अपने परमाणु कार्यक्रम में तेजी लाई है। उत्तर कोरिया ने सितंबर में रॉकेट से ले जाने में सक्षम छोटे हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया।

उत्तर कोरिया ने जुलाई में दो अंतरमहाद्विपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का भी परीक्षण किया जिसकी जद में अमेरिका का मुख्य भूभाग भी है।

ट्रंप ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को ‘‘रॉकेट मैन’’ बताया और उन्होंने कहा कि वह एक ‘‘आत्मघाती अभियान’’ पर है।