निर्देशक महेश भट्ट को मिली जन्मदिन की शुभकामनाएं

नयी दिल्ली,  निर्देशक, निर्माता, पटकथा और कहानी लेखक महेश भट्ट को आज उनके जन्मदिन पर दोनों बेटियों पूजा भट्ट और आलिया भट्ट के साथ-साथ अभिनेता अनुपम खेर ने भी शुभकामनाएं दीं।

अनुपम खेर ने ट्वीट किया है, ‘‘@महेशभट्ट को जन्मदिन की शुभकामनाएं। जिन्होंने 33 साल पहले एक नवोदित का हाथ थामा और आज तक मेरे मार्गदर्शक हैं। धन्यवाद भट्ट साहब।’’ गौरतलब है कि अनुपम खेर को उनकी पहली बड़ी फिल्म सारांश में महेश भट्ट ने ही ब्रेक दिया था। बेहद कम उम्र के खेर ने इस फिल्म में एक बुजुर्ग व्यक्ति की भूमिका निभाई है जिसके बेटे की मृत्यु हो जाती है।

1984 में आयी इस फिल्म के लिए खेर को फिल्म फेयर ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला था। महेश भट्ट को सर्वश्रेष्ठ कहानी के लिए फिल्म फेयर मिला। फिल्म के संगीतकारों में से एक वसंत देव को इसके लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया था।

अभिनेत्री सोनम कपूर ने महेश भट्ट को बधाई देते हुए ट्वीट किया है, ‘‘जन्मदिन मुबारक। आशा करती हूं आपका आने वाला साल बेहतरीन हो।’’ महेश भट्ट की बेटी, अभिनेत्री आलिया भट्ट ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर पोस्ट कर उसे टि्वटर पर साझा किया है। तस्वीर का कैप्शन है ‘‘माई सनशाइन (मेरी धूप), माई रेन (मेरी बारिश), माई ओल्ड मैन, जिन्होंने मुझे प्रेम और दर्द समझाया। ’’ पूजा भट्ट ने 1998 में ‘जख्म’ के बाद महेश भट्ट के साक्षात्कार की क्लिपिंग साझा करते हुए ट्वीट किया है, ‘‘1998 में कहे गये यह शब्द आज भी गूंजते हैं… जन्मदिन मुबारक हो #महेश भट्ट। और एक बेहतरीन पिता होने के लिए धन्यवाद।’’ एक बेहद भावुक ट्वीट में बचपन की तस्वीर साझा करते हुए पूजा ने लिखा है, ‘‘हालांकि आपको #महेश भट्ट जन्मदिन पसंद नहीं है, फिर भी आपने और मेरी मां ने हमेशा सुनिश्चित किया कि मेरा जन्मदिन सबसे सुन्दर हो, जबकि आपके पास इतने पैसे भी नहीं थे।’’ बचपन की इस तस्वीर में पूजा अपनी मां और पिता के साथ नजर आ रही हैं।

नेशनल ब्रॉडकास्टिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं पत्रकार रजत शर्मा में कई ट्वीट में महेश भट्ट को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए उनके कार्यक्रम ‘आप की अदालत’ में निर्देशक की कही हुई बातों का जिक्र किया है।

वर्ष 1948 में जन्मे भट्ट ने अपने शुरूआती दिनों में सारांश जैसी गंभीर फिल्म बनाने के बाद कई व्यावसायिक फिल्में भी की हैं। भट्ट की फिल्मों में डैडी (1989), आवारगी (1990), सड़क (1991), सर (1993) और जख्म (1999) शामिल हैं।

भट्ट को ‘हम हैं राही प्यार के’ (1993) के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार-विशेष ज्यूरी अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

महेश भट्ट ने अपने भाई मुकेश भट्ट के साथ संयुक्त मालिकाना हक वाली कंपनी ‘विशेष फिल्म्स’ के बैनर तले जिस्म, मर्डर और वो-लम्हे जैसी फिल्में भी बनायी हैं।