भारत, बेलारूस के साथ रिश्‍ते मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध : राष्‍ट्रपति

नयी दिल्ली,  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि भारत और बेलारूस के संबंध आपसी साझेदारी सौहार्द और मैत्री से परिपूर्ण रहे हैं और दोनों देश अपने रिश्तों को अधिक मजबूत बनाने को प्रतिबद्ध हैं । राष्ट्रपति ने कहा कि अब तक हमारी साझेदारी सौहार्द और मैत्री से परिपूर्ण रही है, हमें उम्मीद है कि भविष्‍य में भी हमारे संबंध और प्रगाढ़ होंगे । साझा वैश्विक दृष्टि रखने वाले भारत और बेलारूस, दोनों देश एक दूसरे की सम्‍प्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और समस्‍त राष्‍ट्रों की एकता का सम्‍मान करते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम दोनों विश्‍व में शांति और स्‍थायित्‍व के समर्थक हैं और विवादों तथा संघर्षों का शांतिपूर्ण समाधान चाहते हैं। दोनों देश आतंकवाद के सभी स्‍वरूपों और उनके प्रदर्शन की कड़े शब्‍दों में निंदा करते हैं।’’ राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कल बेलारूस गणराज्‍य के राष्‍ट्रपति अलेक्‍सान्‍द्र लुकाशेन्को की राष्‍ट्रपति भवन में अगवानी की और उनके सम्‍मान में भोज भी दिया।

बेलारूस के राष्‍ट्रपति लुकाशेन्‍को का स्‍वागत करते हुए राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि वर्तमान समय में उनकी भारत यात्रा विशेष रूप से महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि वर्ष 2017 भारत और बेलारूस के बीच कूटनीतिक संबंधों की स्‍थापना का रजत जयंती वर्ष है।

राष्‍ट्रपति ने कहा कि भारत और बेलारूस के बीच आपसी व्‍यापार में विविधता लाने के अपार अवसर मौजूद हैं। भारत, बेलारूस के साथ व्‍यापार और निवेश साझेदारी को मजबूत बनाने का इच्‍छुक है।

उन्‍होंने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम दोनों देशों की कंपनियों को रक्षा के क्षेत्र में सहयोग के अवसर प्रदान करता है। बेलारूस पोटाश का बहुत बड़ा स्रोत है और भारत को इस क्षेत्र में उसके साथ साझेदारी की आशा है।

कोविंद ने कहा कि भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र, परमाणु आपूर्तिकर्ताओं के समूह और अंतरराष्‍ट्रीय न्‍यायालय जैसे विभिन्‍न बहुपक्षी मंचों पर बेलारूस के समर्थन के लिए उसका आभार प्रकट करता है। भारत, बेलारूस के साथ संबंध और प्रगाढ़ बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।