लखनऊ का पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम तैयार, अगले साल आईपीएल के मैच हो सकते हैं

लखनऊ, ग्रीन पार्क कानपुर के बाद अब उत्तर प्रदेश को एक और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम मिलने वाला है और वह है लखनऊ के गोमती नगर में बना इकाना स्टेडियम ।

इस स्टेडियम का निरीक्षण अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद :आईसीसी: के प्रतिनिधि ने कर लिया है ।

लगभग 30 एकड़ में बना और 50 हजार दर्शक क्षमता वाला यह स्टेडियम लगभग तैयार हो गया है लेकिन इस स्टेडियम में इस साल 2017 में किसी भी मैच होने की संभावना न के बराबर है । 2018 में होने वाले आईपीएल के मैचों में से एक मैच यहां हो सकता है । वैसे आजकल इस स्टेडियम में दिलीप ट्राफी के मैच चल रहे हैं ।

उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ :यूपीसीए: और इकाना स्टेडियम के बीच वर्ष 2015 में तीस वर्ष के समझौता पत्र :एमओयू: पर हस्ताक्षर हो चुके हैं ।

उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ के सचिव युद्धवीर सिंह ने भाषा से बातचीत में कहा ‘अभी छह सितंबर को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के प्रतिनिधि जवागल श्रीनाथ ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड :बीसीसीआई: के अधिकारियों के साथ इकाना स्टेडियम का निरीक्षण किया था । अब यह अपनी रिपोर्ट आईसीसी को सौपेंगे । उसके बाद ही इस बात का फैसला होगा कि यह इकाना स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के मानकों के अनुरूप है या नहीं ।’ यूपीसीए के एक पदाधिकारी ने उन खबरों से इंकार किया कि 29 अक्टूबर को भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाला तीसरा एक दिवसीय क्रिकेट मैच लखनऊ के इकाना स्टेडियम में होगा । उन्होंने कहा कि अभी इस स्टेडियम को आर्इसीसी ने हरी झंडी नहीं दी है और 29 अक्टूबर के मैच में केवल एक माह 20 दिन बाकी है । इतनी जल्दी यहां तैयारियां संभव नहीं है लिहाजा 29 अक्टूबर को होने वाला एक दिवसीय क्रिकेट मैच कानपुर के ग्रीन पार्क में ही होगा ।

वह कहते हैं कि अगर अगले साल उत्तर प्रदेश को आईपीएल मैच मिले तो एक मैच इकाना स्टेडियम में कराने की पूरी कोशिश की जायेगी तब तक यह स्टेडियम पूरी तरह से तैयार भी हो जायेगा ।

युद्धवीर ने कहा , ‘फिलहाल इकाना स्टेडियम में दिलीप ट्राफी के दिन रात के मैच चल रहे हैं और दर्शक मैच का पूरा आनंद ले रहे हैं । अगर सब कुछ ठीक रहा तो यहां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच भी जल्द होंगे । लेकिन इसमें अभी थोड़ा समय लग सकता है । ‘ इकाना स्टेडियम के प्रबंध निदेशक उदय सिन्हा ने बताया कि इस स्टेडियम का निर्माण अक्टूबर 2105 में शुरू हुआ था और ढाई साल में बनकर तैयार हो गया । 30 एकड़ में आधुनिक सुविधाओं से युक्त इस स्टेडियम के निर्माण में करीब 400 करोड़ रूपये की लागत आई है । यह स्टेडियम पीपीपी :पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप: के आधार पर बनाया गया है । वर्ष 2015 में ही उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ के साथ तीस साल का एमओयू :समझौता पत्र: पर हस्ताक्षर हो चुके है ।

उन्होंने कहा कि स्टेडियम पूरी तरह से तैयार है और अब वे यहां जल्द अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच आयोजित होने की उम्मीद कर रहे हैं ।