समिति देखेगी जेपी के फ्लैट खरीदारों की शिकायतें : पासवान

नयी दिल्ली, जेपी इंफ्राटेक के फ्लैट खरीदारों की ओर से उपभोक्ता मंत्रालय को अब तक 400 से ज्यादा शिकायतें मिल चुकी हैं। इस पर उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि इन शिकायतों पर विचार करने के लिए मंत्रालय की एक समिति गठित की गई है।

जेपी इंफ्राटेक नोएडा में ‘विश टाउन’ नाम से एक टाउनशिप विकसित कर रही है जिसके तहत वह कई परियोजनाओं में 32,000 फ्लैटों का निर्माण कर रही है। इन परियोजनाओं का निर्माण पूरा करने में बहुत देरी के चलते जेपी को फ्लैट खरीदारों की ओर से लगातार विरोध प्रदर्शनों और कानूनी वादों का सामना करना पड़ रहा है।

पासवान ने पत्रकारों से कहा, ‘‘समिति की अध्यक्षता उपभोक्ता मामलों के सचिव करेंगे और मामले का अध्ययन कर तीन दिन के भीतर एक स्थिति रपट जमा करेंगे। हम देखेंगे कि (मंत्रालय का) कोई अधिकार क्षेत्र है (या नहीं)। हम मकान खरीदारों के हितों की रक्षा करना चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा कि मंत्रालय की राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन के माध्यम से फ्लैट खरीदार अब तक 400 शिकायतें दर्ज कर चुके हैं। इन शिकायतों को संबंधित विभागों/मंत्रालयों के पास भेज दिया गया है।

करीब 141 फ्लैट खरीदार उपभोक्ता न्यायालयों में जेपी के खिलाफ मामले दायर कर चुके हैं। आईडीबीआई बैंक ने भी कंपनी के खिलाफ राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण में ऋण शोधन प्रक्रिया की याचिका दायर की है जिस पर हाल ही में उच्चतम न्यायालय ने रोक लगाई है।

वर्तमान में देश में 60 राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन काम कर रही हैं। पासवान ने कहा कि इस साल 10 अक्तूबर तक 6 क्षेत्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन केंद्र भी काम करना शुरु कर देंगे।