हथकरघे पर बने कपड़ों को चलन में लाने का श्रेय युवा डिजाइनरों को : अनाविला

मुंबई, डिजाइनर अनाविला मिश्रा ने हथकरघे पर बने कपड़ों को नया फैशन बताते हुए कहा कि युवा डिजाइनरों ने हथकरघे में जो रूचि दिखाई है उसी वजह से देश में यह फैशन में सबसे ज्यादा चलन में आ रहा है।

डिजाइनर ने कहा कि जिस तरीके से युवा डिजाइनरों ने हथकरघों पर बने कपड़ों की अवधारणा को आधुनिक रंग दिया है उससे भारतीय टेक्सटाइल चलन में आ गए हैं। अनाविला पंजा दरी बुनकरों के साथ संक्षिप्त मुलाकात के बाद अपने ब्रांड का बेस हथकरघा बनाने के लिए प्रेरित हुई।

अनाविला ने पीटीआई-भाषा के साथ एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘जब एक युवा डिजाइनर इंडस्ट्री में आता है और आधुनिक तरीके से हथकरघे के साथ काम करना शुरू करता है तो इससे काफी अंतर आता है। हरकरघे को पुनर्जीवित करने का श्रेय निश्चित तौर पर उन्हें जाता है। पहले हथकरघे के साथ भ्रांति जुड़ी हुई थी, युवा लड़कियां इसे पहनना नहीं चाहती थी लेकिन अब यह आरामदायक कपड़ों की परिभाषा बन गया है।’’ डिजाइनर ने कहा, ‘‘भारतीय डिजाइनर अब यहां की टेक्सटाइल को अपना रहे है और इसे अंतरराष्ट्रीय बाजार में लेकर जा रहे है जिससे मुझे सच में खुशी मिली है।’’ अनाविला को उनकी आरामदायक लिनेन की साड़ियों के लिए पहचाना जाता है। कई बॉलीवुड सेलिब्रिटी उनकी डिजाइन की हुई साड़ियां पहनती हैं और अनाविला का कहना है कि उनका उद्देश्य हमेशा से कुछ ऐसा बनाना रहा है जो पहनने में आसान हो और उसके रखरखाव पर भी कम खर्च आए।

डिजाइनर ने लेक्मे फैशन वीक विंटर/फेस्टिव 2017 में कल रात अपना कलेक्शन दिखाया।