2010 से 2016 के बीच देश में करीब छह करोड़ शिशु साक्षर के रूप में प्रमाणित :जावड़ेकर

नयी दिल्ली, सरकार ने आज लोकसभा में जानकारी दी कि 2010 ये 2016 के बीच करीब छह करोड़ लोगों ने बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षण उत्तीर्ण किया है जो लोगों को साक्षर के तौर पर प्रमाणित करने के लिए लिया जाता है।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत अगस्त, 2010 से अगस्त, 2016 के बीच हुए बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षण में करीब 7.92 करोड़ शिशु शामिल हुए थे।

उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में बताया कि कुल अभ्यर्थियों में से 5.88 करोड़ शिशुओं ने सफलतापूर्वक इस मूल्यांकन परीक्षण को उत्तीर्ण किया और उन्हें ‘साक्षर’ के रूप में प्रमाणित किया गया।

मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने धर्मेंद्र यादव के एक पूरक प्रश्न के उत्तर में कहा कि राज्य सरकारें अपने अपने यहां मॉडल स्कूल चलाने के लिए स्वतंत्र हैं।

हालांकि मंत्री के इस उत्तर पर विरोध दर्ज कराते हुए यादव ने आरोप लगाया कि केंद्र में राजग सरकार आने के बाद मॉडल स्कूल योजना बंद कर दी गयी है। इस पर यादव और भाजपा के कुछ सदस्यों के बीच हल्की-फुल्की नोंकझोंक देखने को मिली।