हम ‘इंदु सरकार’ में डिस्क्लेमर डालेंगे : मधुर भंडारकर

कोलकाता, 13 जुलाई (भाषा) फिल्मकार मधुर भंडारकर ने कहा है कि वह अपनी आने वाली फिल्म ‘इंदु सरकार’ में यह डिस्क्लेमर डालेंगे कि आपातकाल की पृष्ठभूमि में बनायी गयी इस फिल्म का अधिकांश हिस्सा काल्पनिक है।

भंडारकर ने पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं इसमें एक डिस्क्लेमर डालने जा रहा हूं। उसमें बताया जाएगा कि फिल्म के लिये घटनाओं को नाटकीय रूप दिया गया है। मैं कह चुका हूं कि इस फिल्म का 70 फीसद हिस्सा काल्पनिक है और मात्र 30 प्रतिशत हिस्सा ही वास्तविक है। इसलिये अब, मुझे इसके संबंध में फिल्म में एक डिस्क्लेमर डालने की जरूरत है।’’ फिल्म निर्माता ने कहा, कि विवाद के कारण ‘इंदु सरकार’ की असली कहानी गुम हो रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे फिर से बताने दीजिये कि ‘इंदु सरकार’ की कहानी आपातकाल में फंसे पति और उसकी पत्नी पर आधारित है। यह राजनीतिक फिल्म नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि विवाद के कारण फिल्म की असली कहानी कहीं खो रही है।

संजय गांधी की पुत्री होने का दावा करने वाली महिला की ओर से कानूनी नोटिस भेजे जाने के संबंध में प्रतिक्रिया पूछे जाने पर भंडारकर ने कहा, ‘‘उन्हें नोटिस का औपचारिक जवाब भेज दिया गया है।’’ उल्लेखनीय है कि कानूनी नोटिस में भंडारकर पर आरोप लगाते हुये कहा गया है कि उनकी फिल्म का ट्रेलर दिवंगत कांग्रेसी नेता की भ्रामक छवि चित्रित करता है।