राहुल ने मध्यप्रदेश पुलिस की गोलीबारी में मारे गए किसानों के परिजनों से की भेंट

 निंबाहेड़ा :राजस्थान:, आठ जून :भाषा: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश में आंदोलन के दौरान मंगलवार को पुलिस की गोलीबारी में मारे गए किसानों के परिजनों से आज मुलाकात की और कहा कि वह देश भर में कृषि कर्ज माफी के लिए दबाव बनाएंगे ।

मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा सीमा पर 250 समर्थकों के साथ गांधी को रिहा कर दिया गया । इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता मारे गए पांच किसानों में चार के परिजनों को राहुल गांधी से भेंट कराने के लिए राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिला लेकर लाये । पुलिस ने किसान आंदोलन की हिंसा का गवाह बने मंदसौर में प्रवेश करने के दौरान चार घंटे तक उन्हें एहतियाती तौर पर हिरासत में रखा था ।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मंदसौर जाने से उनको रोके जाने पर राजस्थान और मध्यप्रदेश में भाजपा सरकारों पर निशाना साधा और कर्ज माफी, न्यूनतम समर्थन मूल्य समेत अन्य मांगों के लिए आंदोलन के दौरान पुलिसिया कार्रवाई में मारे गए किसानों को शहीद का दर्जा देने की मांग की ।

किसानों के शोकसंतप्त परिजनों को दिलासा देने के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं परिवारों से दो मिनट के लिए मिलकर कहना चाहता था कि हम उनके साथ हैं लेकिन मुझे इजाजत नहीं दी गयी । मैं बस उनके दुख को साझा करना चाहता था..क्या मैं इस देश का नागरिक नहीं हूं ? क्या मुझे मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश या :भाजपा शासित: अन्य राज्यों में जाने की अनुमति इसलिए नहीं मिलनी चाहिए क्योंकि मैं आरएसएस से जुड़ा हुआ नहीं हूं ।’’ उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह किसानों को भूल गयी है और केवल देश के ‘‘50 अमीर लोगों’’ का कर्ज माफ करने में उसकी दिलचस्पी है । जारी