वैश्विक वृद्धि की गति को बनाये रखने की जरूरत: आईएमएफ

वाशिंगटन, अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष :आईएमएफ: की प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्ड ने कहा है कि विश्व अर्र्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है और इस वृद्धि को बनाये रखने तथा इसे अधिक समावेशी बनाने की जरूरत है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष और विश्वबैंक की सालाना गृष्मकालीन बैठक की शुरूआत में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए क्रिस्टीन ने कहा, ‘‘अंतत: हम वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेजी देख रहे हैं और हम उम्मीद करते हैं कि मध्यम से दीर्घकालीन अवधि में यह टिकाउ होने जा रही है।’’ विश्व आर्थिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने 2017 में आर्थिक वृद्धि दर 3.5 प्रतिशत और 2018 में 3.6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया।

आईएमफ की प्रबंध निदेशक ने कहा, ‘‘यह 2016 के मुकाबले बेहतर सुधार है। उस समय आर्थिक वृद्धि दर केवल 3.1 प्रतिशत थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि यह गति सतत हो और यह वृद्धि बनी रहे तथा सबसे महत्वपूर्ण वृद्धि समावेशी हो। हालांकि जोखिम भी बना हुआ जिसमें राजनीतिक अनिश्चितता शामिल हैं। हमें याद है कि 2011 में सुधार दिखे थे लेकिन वह लंबे समय तक कायम नहीं रह सका।’’ क्रिस्टीन ने कहा कि आईएमएफ सदस्य इस बात पर चर्चा करेंगे कि कैसे वे इस गति को बनाये रख सकते हैं, कैसे राजनीतिक बदलाव के साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था अधिक मजबूत हो, कैसे मजबूत और समावेश वृद्धि बनी रहे तथा सभी के बीच बेहतर सहयोग हो। एक सवाल के जवाब में क्रिस्टीन ने कहा कि वृद्धि में तेजी आ रही है और उसे उपयुक्त अल्पकालीन नीतियों के साथ सतत बनाये रखने की जरूरत है।

उन्होंने यह भी कहा कि आईएमएफ कोई व्यापार संगठन नहीं है लेकिन वह व्यापार को लेकर चिंतित है क्योंकि यह वृद्धि का प्रमुख इंजन है और वास्तव में समृद्धि का मजबूत स्तंभ है।