भारत को नेपाल के बहुदलीय लोकतंत्र पर सर्वसम्मति बनाने की उम्मीद : राष्ट्रपति

नयी दिल्ली, राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज यहां कहा कि भारत को उम्मीद है कि नेपाल समाज के सभी वर्गो को साथ लेकर शांति, स्थिरता और बहुदलीय लोकतंत्र की अपनी तलाश में वार्ता के जरिए सर्वसम्मति बनाने में सक्षम होगा।

नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के सम्मान में यहां दिए गए भोज में राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि नेपाल के सामाजिक. आर्थिक विकास में भारत का हित है ।

उन्होंने कहा कि नेपाल लोकतंत्र और आर्थिक समृद्धि के लक्ष्यों को समायोजित करते हुए शांति, स्थिरता और बहु दलीय लोकतंत्र की अपनी तलाश में एक महत्वपूर्ण दौर से गुजर रहा है ।

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ भारत नेपाल के लोगों की उद्यमशीलता और उपलब्धियों को सलाम करता है । इसमें कोई शक नहीं है कि उनकी विवेकशीलता और लचीलापन वार्ता और आपसी समझ के जरिए सर्वसम्मति को कायम करने में सफल होगा ताकि समाज के सभी वर्गो को साथ लेते हुए वे एक संघीय और लोकतांत्रिक ढांचे के भीतर अपने लक्ष्यों को हासिल कर सकेंगे।’’ नए संविधान के क्रियान्वयन को लेकर नेपाल को भारतीय मूल के मधेसी समुदाय के लोगों के कड़े विरोध का सामना करना पड़ रहा है ।

अधिकतर भारतीय मूल के मधेसी समुदाय ने सितंबर 2015 और पिछले वर्ष फरवरी तक एक लंबा आंदोलन छेड़ा था । इस समुदाय के लोगों का मानना है कि नए संविधान के लागू होने से तराई समुदाय हाशिये पर चला जाएगा।

नेपाल की राष्ट्रपति बनने के बाद भंडारी अपनी पहली सरकारी यात्रा पर हैं ।

मुखर्जी ने कहा कि भारत इस बात को जानकर खुश है कि नेपाल संविधान को लागू करने के महत्वपूर्ण काम में लगा है और एक प्रगतिवादी तथा समग्र राजनीतिक एजेंडे को लेकर आगे बढ़ रहा है ।

Leave a Reply