उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का एंटी रोमियो दस्ते बनाने का फैसला बेहद लोकप्रिय : सर्वे

नयी दिल्ली,  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सत्ता संभाले लगभग एक माह होने को आया है और इस बीच अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई तथा एंटी रोमियो अभियान से उनकी लोकप्रियता और बढ़ गई है। एक सर्वे में यह दावा किया गया है।

आलोचक उनके इन अभियानों को भले ही वृहद भगवा योजना का हिस्सा बताएं लेकिन जनता के बीच इनकी खासी लोकप्रियता है।

यह सर्वे राज्य के बीस जिलों में करीब 2,000 लोगों के बीच किया गया।

ग्रामीण मीडिया प्लेटफॉर्म गांव कनेक्शन द्वारा किए गए सर्वे में सामने आया है कि अवैध बूचड़खानों, एंटी रोमियो दस्तों, वीआईपी कल्चर के खिलाफ कार्रवाई, सरकारी कार्यालयों में पान मसाला तथा तंबाकू पर पाबंदी जैसे फैसले सर्वाधिक लोकप्रिय बनकर उभरे हैं।

गांव कनेक्शन ने एक वक्तव्य में कहा कि अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई का 38.1 फीसदी लोगों ने अनुमोदन किया जबकि एंटी रोमियो दस्ते के फैसले की 25.4 फीसदी लोगों ने प्रशंसा की।

एंटी रोमियो अभियान महिलाओं के बीच सर्वाधिक लोकप्रिय फैसला रहा। 37 फीसदी ने इसका अनुमोदन किया।

सर्वे के मुताबिक आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार का 62 फीसदी लोगों ने अनुमोदन किया जबकि 71 फीसदी लोगों को लगता है कि फायरब्रांड हिंदू नेता सही दिशा में काम कर रहे हैं।

यह सर्वे बुंदेलखंड के ललितपुर से लेकर सोनभद्र और मेरठ से लेकर सिद्धार्थनगर के बीच किया गया।