अपनी राय रखने वाले व्यक्ति का सम्मान होना चाहिए : हंसल मेहता

नयी दिल्ली,  फिल्मकार हंसल मेहता ने अपनी फिल्म ‘सिमरन’ की अभिनेत्री कंगना रनौत के बेबाक और दमदार स्वभाव की तारीफ करते हुए कहा कि अभिनेत्री की तरह अपनी राय रखने वाले लोगों का सम्मान किया जाना चाहिए।

मेहता ने कहा कि कंगना का बेतकल्लुफ व्यक्तित्व फिल्म उद्योग में कई लोगों को रास नहीं आ सकता है, लेकिन वह :मेहता: उन लोगों में से नहीं है।

‘अलीगढ़’ के निर्देशक ने कहा कि 30 वर्षीय अभिनेत्री से डरने के बजाय किसी को भी निश्चित तौर पर अभिनेत्री की खूबियों के लिये उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे कभी महसूस नहीं हुआ कि वह बहुत अधिक हठी हैं, बल्कि मेरा मानना है कि अपनी राय रखने वाले व्यक्ति का सम्मान होना चाहिए। आखिर कितने लोगों के पास दमदार राय होती है और इनमें से कितने लोग सही बात करते हैं?’’ मेहता ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘वह उन लोगांे में से हैं जो बहुत अधिक फोकस्ड, बेहद प्रतिभावान होते हैं। आपको किसी व्यक्ति से डरने के बजाय उसके गुणों के लिये उसे प्रोत्साहित करना चाहिए।’’ कंगना के सह कलाकारों और सहयोगियों ने इससे पहले शिकायत की थी कि अभिनेत्री एक जटिल शख्सियत हैं और उनके साथ काम करना मुश्किल है।

‘सिमरन’ में कंगना के साथ सोहम शाह भी हैं। यह फिल्म इस साल के अंत में रिलीज होगी।