चिलचिलाती धूप से बचने के लिए ग्रीन नेट से छाया मंडप का निर्माण

विश्व प्रसिद्ध दक्षिण मुखी ज्योतिर्लिंग भगवान श्री महाकालेश्वर मंदिर में देश दुनिया के भक्त प्रतिदिन हजारों की संख्या में उज्जैन आते है। चिलचिलाती धूप से बचाव एवं दर्शनार्थियों के पांव न जलें इसके बचाव के लिए मंदिर के पुजारी-पुरोहित परिवार के द्वारा छायामंडप का निर्माण महाकाल मंदिर परिसर में कराया जा रहा है।  छायामंडप निर्माण का शुभारंभ शनिवार 15 अप्रैल को दोपहर में खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिव चैबे  के कर कमलों द्वारा संपन्न हुआ। इस अवसर पर पार्षद श्री बुद्धिप्रकाश सोनी, मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक श्री अवधेश शर्मा, पं. प्रशांत गुरू, पं. राजेश पुजारी, पं. आशीष पुजारी, पं. संजय पुजारी, पं. प्रदीप गुरू, पं. कमल गुरू, पं. राधेश्याम शास्त्री, पं. यश गुरू, पं. पवन गुरू, धनिराम तिवारी, अमीश पाठक आदि उपस्थित थे।
पुजारी पुरोहित की ओर से प्रशांत गुरू के मार्गदर्शन में मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए निर्मित छायामंडप निर्माण कार्य मंदिर के प्रशासक के सुपुर्द किया। छाया मंडप का रखरखाव अब मंदिर प्रबंध समिति करेगी। बबलू गुरू ने बताया कि, पुजारी एवं पुरोहित परिवार  सदैव धार्मिक, सांस्कृतिक एवं मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों से संबंधित व्यवस्थाओं में सदैव सहयोग दिया जाता रहा है, अब भविष्य में भी दिया जाता रहेगा। पुलिस चैकी के समीप गेट से ग्रीन नेट से निर्मित किये जा रहे शेड का निर्माण प्रारंभ हुआ है और यह निर्माण कार्य सामान्य दर्शनार्थी की सुविधा के लिए फेसेलिटि सेन्टर के प्रवेश द्वार तक किया जावेगा। पुजारी पुरोहित परिवार की ओर से दर्शनार्थियों को राहत देने हेतु ग्रीन नेट का छाया मंडप के निर्माण कराये जाने पर पुजारी- पुरोहित के प्रशंसनीय कार्य के लिए उनका सम्मान भी किया गया। सम्मान में उन्हें सम्मान पत्र भेंट किया।