जीएसटी पर चिंता जताने वाले हकीकत में कर से बचने वाले : आदि गोदरेज

हैदराबाद,  गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि बी. गोदरेज ने कहा कि जो लोग वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) पर चिंता जता रहे हैं और इसको थोड़ा टालने की बात कर रहे हैं, वे ऐसे लोग हैं जो कर से बचना चाहते हैं।

गोदरेज ने जीएसटी लागू करने की तारीख को एक जुलाई के बजाय एक अक्तूबर करने के कुछ उद्योगों के सुझाव को ‘हास्यास्पद’ बताया।

पीटीआई-भाषा के साथ साक्षात्कार में गोदरेज ने कहा, ‘‘हर किसी के पास तैयारी के लिए (नयी कर व्यवस्था के अनुरूप) बहुत समय है। पहले यह एक अप्रैल से लागू होना था और अब इसे एक जुलाई को आना है। मैंने पी. चिदंबरम (पूर्व वित्त मंत्री) का एक बयान देखा, उसके (जीएसटी को एक अक्तूबर से लागू करने का सुझाव) बारे में मेरा मानना है कि यह बहुत ही हास्यास्पद होगा।’’ भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के पूर्व अध्यक्ष गोदरेज ने कहा, ‘‘सबसे पहली बात जीएसटी के लिए संविधान में किया गया संशोधन सितंबर में समाप्त हो जाएगा। इसलिए हमें इसमें और देरी नहीं करनी चाहिए।’’ उल्लेखनीय है कि जीएसटी के लिए किए गए संविधान संशोधन अधिनियम के अनुसार देश में अप्रत्यक्ष करों को समाप्त कर जीएसटी लाने की अंतिम तारीख 30 सितंबर तय की गई है। उसके बाद देश के सारे अप्रत्यक्ष कर इसी में समाहित हो जाएंगे।