रामकुमार जीते लेकिन प्रजनेश हारे, भारत 4-1 से जीता

बेंगलुरू,  भारतीय टीम क्लीन स्वीप नहीं कर सकी लेकिन उसने उज्बेकिस्तान पर दबदबा बनाते हुए एशिया ओसियाना ग्रुप एक डेविस कप मुकाबले में 4-1 की जीत के साथ विश्व ग्रुप प्ले आफ में जगह बनाई।

कल युगल मुकाबले में जीत से 3-0 की बढ़त के साथ ही भारत ने सितंबर में होने वाले विश्व ग्रुप प्ले आफ के लिए क्वालीफाई कर लिया था। टीम की नजरें क्लीन स्वीप पर टिकी थी लेकिन दूसरे उलट एकल में शिकस्त के कारण ऐसा नहीं हो पाया।

रामकुमार रामनाथन ने पहले उलट एकल में सिर्फ 67 मिनट में संजार फाजियेव को 6-3 6-2 से हराकर केएसएलटीए स्टेडियम में भारत का दबदबा बरकरार रखा लेकिन बायें हाथ के खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन के खिलाफ दुनिया के 406वें नंबर के खिलाड़ी तैमूर इस्माइलोव ने हालात का बेहतर फायदा उठाते हुए दूसरे उलट एकल में 7-5 6-3 की जीत के साथ भारत को क्लीनस्वीप से वंचित किया। भारत ने पिछली बार डेविस कप मुकाबले में फरवरी 2014 में क्लीनस्वीप किया था जब उसने इंदौर में चीनी ताइपे को एकतरफा मुकाबले में हराया था।

दोनों खिलाड़ियों ने शानदार सर्विस की लेकिन पदार्पण कर रहे प्रजनेश अहम लम्हों में दबाव में आ गए और मैच में नतीजे पर इसका बड़ा असर पड़ा।

भारत के नये कप्तान महेश भूपति के लिए हालांकि शुरूआत काफी अच्छी रही।

फाजियेव को कोर्ट के उछाल और गति से सामंजस्य बैठाने में जूझना पड़ा जबकि रामकुमार ने इसका फायदा उठाया। उन्होंने लगातार उछाल लेती सर्विस की जिस पर विरोधी खिलाड़ी ने कई गलतियां की।

फाजियेव अपने पहले सर्विस गेम में ही 0-4 से पिछड़ गए और फिर दूसरे ब्रेक प्वाइंट पर उन्होंने शाट बाहर मारकर अपनी सर्विस गंवा दी।