विश्व कप फाइनल में भारत से मिली हार से दुख होता है, लेकिन अब बीती बात: जयवर्धने

मुंबई,  छह साल पहले इसी दिन कुमार संगकारा की अगुवाई वाली श्रीलंकाई टीम वानखेड़े स्टेडियम में आईसीसी विश्व कप फाइनल में महेंद्र सिंह धोनी की टीम से हार गयी थी और इस मैच के एकमात्र शतकवीर महेला जयवर्धने ने आज स्वीकार किया कि उस समय मिली इस हार से दुख होता है।

जयवर्धने अब आईपीएल 10 में मुंबई इंडियंस के कोच हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यह याद ही नहीं होता, लेकिन सुबह तब मैंने अपना ट्विटर अकाउंट खोला तब मुझे याद आया। विश्व कप फाइनल का हिस्सा होना हमेशा ही शानदार होता है और वानखेड़े स्टेडियम में चिल्ला रहे 50,000 लोगों के सामने खेलने उतरने की अच्छी यादें हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘उस दिन भारतीय टीम ने बाजी मारी लेकिन यह छह साल पहले हुआ था और यह बीती बात हो गयी है। जिंदगी में काफी चीजें दुखी करती हैं। मैंने आईसीसी टूर्नामेंट के पांच फाइनल्स में से चार गंवाये हैं। हम जिंदगी में इस तरह की घटनाओं से सीख लेते हैं और जीवन में आगे बढ़ते हैं। उस समय इससे दुख हुआ था लेकिन इसके बाद फिर यह एक अन्य मैच की तरह हो गया। ’’ श्रीलंका ने तब उनके शतक की मदद से छह विकेट पर 274 रन बनाये थे लेकिन धोनी ने नाबाद 91 रन की पारी खेलकर भारत को खिताब दिलाया था।