वित्त वर्ष 2016-17 में सेंसेक्स ने दर्ज किया 16 प्रतिशत का लाभ, निवेशकों की पूंजी 26 लाख करोड़ रपये बढ़ी

मुंबई, बंबई शेयर बाजार में पिछले तीन सत्रों से जारी तेजी पर आज विराम लग गया और सेंसेक्स वित्त वर्ष 2016-17 के अंतिम दिन 27 अंक की गिरावट के साथ 29,620.50 अंक पर बंद हुआ। हालांकि पूरे वित्त वर्ष में सेंसेक्स ने करीब 16 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की है। इससे निवेशकांे की पूंजी 26 लाख करोड़ रपये बढ़ गई।

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 9,173.75 अंक पर स्थिर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 9,191.70 से 9,152.10 अंक के दायरे में रहा। पूरे वित्त वर्ष में निफ्टी ने करीब 18.55 प्रतिशत का लाभ दर्ज किया।

वित्त वर्ष की समाप्ति पर बंबई शेयर बाजार की सूचीबद्ध कंपनियांे का कुल बाजार पूंजीकरण 121 लाख करोड़ रपये के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। वित्त वर्ष 2015-16 के अंत तक यह 94.75 लाख करोड़ रपये था।

वित्त वर्ष के दौरान सेंसेक्स 4,278.64 अंक या 16.88 प्रतिशत चढ़ा है। इस साल 17 मार्च को सेंसेक्स कारोबार के दौरान 29,824.62 अंक के साल के उच्चस्तर पर पहुंचा था।

पूरे वित्त वर्ष में निफ्टी 1,435.55 अंक या 18.55 प्रतिशत चढ़ा। 17 मार्च को यह कारोबार के दौरान साल के उच्चस्तर 9,218.40 अंक पर पहुंचा था। इससे पिछले वित्त वर्ष में निफ्टी में 9 प्रतिशत की गिरावट आई थी। 2014-15 में यह 26.65 प्रतिशत चढ़ा था।

आज कारोबार के दौरान बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 26.92 अंक या 0.09 प्रतिशत के नुकसान से 29,620.50 अंक पर आ गया। कारोबार के दौरान यह 29,687.50 से 29,552.61 अंक के दायरे में रहा था। पिछले तीन सत्रांे में सेंसेक्स 410.27 अंक चढ़ा था।