आंत में घुस कर पाचन तंत्र की असली तस्वीर पेश करेगा 3डी रोबोट

यरूशलम, वैज्ञानिकों ने एक नन्हा और, आसानी से निगला जाने वाला सांप की तरह लचीला 3डी प्रिंटेड रोबोट बनाया है जो छोटी आंत तक में जा सकता है और पाचन तंत्र की तस्वीर पेश कर सकता है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि एसएडब्ल्यू :सिंगल एक्ट्यूटर वेव लाइक रोबोट: नाम का यह रोबोट लहराता हुआ चलता है और वह छोटी आंत के बेहद नरम और नम वातावरण में भी चल सकता है।

मौजूदा समय में की जाने वाली कोलोनोस्कॉपी से केवल बड़ी आंत का निरीक्षण किया जा सकता है। कैमरे से लैस एक लचीली ट्यूब से मलाशय और पेट के दृश्य का अवलोकन किया जाता है और इस प्रक्रिया को कोलोनोस्कॉपी कहा जाता है। पिल कैमरे छोटी आंत में पहुंच सकते हैं लेकिन उन्हें पूरे पाचन तंत्र में घूमने में 12 घंटे का लम्बा समय लगता है।

इस्राइल में नेगेव की बेन-गुरियान यूनिवर्सिटी के मेकेनिकल इंजीनियर डेविड जरोउक ने ‘लाइव साइंस’ को बताया कि कभी-कभी पिल कैमरा आंत में कुछ जगहों पर फंस सकते है और वहां अगर उनकी बैटरी खत्म हो गयी तो डॉक्टर के पास जांच करने के लिए कोई डेटा नहीं बचेगा। इन पिल कैमरों से उतक नमूने नहीं लिये जा सकते।

सांप सुचारू रूप से और लहरा कर चलते हैं जिनका इस्तेमाल तेजी से लंबी दूरी तय करने में किया जा सकता है।

जरोउक ने बताया कि शोधकर्ताओं ने एक मोटर का इस्तेमाल कर आसान डिजाइन बनाया और यह कुंडली के घूर्णन की धारणा पर आधारित है।

सांप जैसा यह रोबोट इंटरलॉकिंग 3डी प्रिंटेड प्लास्टिक के टुकड़ों से बना है जो कशेरूकाओं की तरह दिखता है। परीक्षण में यह अत्यधिक तेज और पानी से पत्थर जैसी सख्त सतह पर चल सकने में सक्षम दिखा।

शोधकर्ताओं को ऐसा लचीला रोबोट बनाने की उम्मीद है जिसमें कैमरा लगा हो और वह छोटी आंत में घुस सकता हो तथा इसका कोलोनोस्कॉपी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता हो।