फडणवीस ने कर्ज में डूबे किसानों को रिण प्रणाली से दोबारा जोड़ने की वकालत की

मुंबई, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज कहा कि रिण चुकाने में नाकाम रहने वाले किसानों को दोबारा संस्थागत रिण प्रणाली से जोड़ने की योजना तैयार करने के मुद्दे पर उनकी केंद्र के साथ सकारात्मक चर्चाएं हुई हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को दोबारा संस्थागत रिण प्रणाली से इस तरह से जोड़ा जाए कि कृषि क्षेत्र में निवेश प्रभावित ना हो।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश विधानसभा में कहा कि उन्होंने वित्त मंत्री अरूण जेटली एवं कृषि मंत्री राधामोहन सिंह को आश्वस्त किया कि राज्य किसानों की मदद के लिए योजना में अपने हिस्से का योगदान देने को लेकर तैयार है।

फडणवीस ने कहा कि 1.36 करोड़ किसानों में से 31 लाख के पास 30,500 करोड़ रपये के रिण बकाया हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ये किसान नये रिण के लिए पात्रता नहीं रखते। उन्हें संस्थागत रिण प्रणाली से दोबारा जोड़ने की जरूरत है। लेकिन हमें समय पर रिण दे चुके एक करोड़ से अधिक किसानों को प्रोत्साहन देना होगा। व्यवस्था का निर्माण करना होगा क्योंकि इस तरह के फैसले रातों रात नहीं लिए जाते।’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अगर समय पर रिण चुकाने वाले किसानों को यह संदेश जाए कि रिण के बकाये का भुगतान ना होने पर रिण माफ कर दिया जाएगा तो इससे बैंकिंग प्रणाली तबाह हो जाएगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘किसानों के बीच एक गलत संदेश जाएगा।’’ फडणवीस ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती है कि किसान फिर से कर्जग्रस्त ना हों।