नक्सली हमला ‘कायरतापूर्ण, नृशंस’ कृत्य: सोनिया गांधी

नयी दिल्ली,  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 12 जवानों के मारे जाने की घटना की कड़ी निंदा की और इसे नृशंस और कायरतापूर्ण कृत्य बताया।

सीआरपीएफ जवानों को उनके सर्वोच्च और अविस्मरणीय बलिदानों के लिए सलाम करते हुये गांधी ने कहा कि पीड़ितों के परिवार के प्रति उनकी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं है।

उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘भारत आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एकजुट है और सरकार को भारत में आतंक फैलाने वाली ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देना चाहिये।’’ नक्सलवादियों ने आज माओवाद से प्रभावित सुकमा जिले में सुरक्षा बलों के काफिले पर हमला किया, जिसमें 12 सीआरपीएफ कर्मी मारे गए। नक्सलियों ने जवानों के हथियार भी लूट लिये। इस हमले में चार सुरक्षाकर्मी घायल हो गये और उनमें से दो की हालत गंभीर है।

भेज्जी थाने के घने जंगलों में सुबह सवा नौ बजे उस समय हमला किया गया जब सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन के जवानों का गश्ती दल कोटाचेरू गांव के निकट सड़क खोलने के अपने काम पर निकला था।

दक्षिण बस्तर क्षेत्र का भेज्जी इलाका नक्सली हमलों के लिए कुख्यात रहा है और यहां पहले भी हमलों में कई सुरक्षाकर्मी मारे जा चुके हैं।