बसपा के साथ साझेदारी का समर्थन कर अखिलेश ने स्वीकारी हार: रिजिजू

गाजियाबाद,  केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव परिणामों के बाद त्रिशंकु विधानसभा के हालात बनने की स्थिति में उनके द्वारा बसपा के साथ साझेदारी करने का संकेत देना, गणना से पहले ही ‘‘हार स्वीकार’’ कर लेने जैसा है।

सपा अध्यक्ष की टिप्पणी पर जब केंद्रीय गृह राज्यमंत्री रिजिजू से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा, ‘‘काउंटिंग से पहले ही हार मान ली । इस पर मैं और क्या कह सकता हूं।’’ केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल :सीआईएसएफ: के 48वें स्थापना दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि आए रिजिजू ने संवाददाताओं से बातचीत में यह कहा।

कल अखिलेश ने राज्य में भाजपा का रास्ता रोकने के लिए बसपा के साथ चुनाव बाद साझेदारी की संभावना से इनकार नहीं किया था।

अखिलेश ने कहा था, ‘‘साझेदारी के बारे में कुछ नहीं कहूंगा। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीटें मिलेंगी। हालांकि बसपा प्रमुख का मैंने हमेशा एक संबंधी के तौर पर जिक्र किया है ऐसे में लोगों के लिए यह सोचना सामान्य है कि हम उनकी मदद ले सकते हैं या उनके साथ हाथ मिला सकते हैं.. लेकिन फिलहाल यह कहना मुश्किल है।’’ रिजिजू ने दिग्विजय सिंह के उस वक्तव्य को भी खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि भारतीय मुस्लिमों के साथ ‘‘अन्याय’’ उन्हें आतंकी संगठनों के ओर आकषिर्त करता है।

रिजिजू ने कहा, ‘‘ऐसा कहकर वह उन्हें और पराया कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि सिंह को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए।

उन्होंने सीआईएसएफ को ‘‘बहुकोणीय तथा पेशेवर बल’’ बताया जो देश के लिए ‘‘गर्व का प्रतीक है।’’