‘‘ट्रंप प्रशासन तले नई उंचाईयों को छुएंगे भारत-अमेरिका संबंध’’

वाशिंगटन, अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस के करीबी एक भारतीय-अमेरिकी उद्योगपति ने कहा है कि भारत और अमेरिका ‘‘स्वाभाविक साझेदार’’ हैं और एशिया-प्रशांत क्षेत्र में चीन के आक्रामक रख के बीच दोनों देशों के साझा हित भी हैं, ऐसे में भारत-अमेरिकी संबंध ट्रंप प्रशासन तले नई उंचाईयों को छुएंगे।

इंडियाना निवासी गुरिंदर सिंह खालसा ने कहा कि भारतीय-अमेरिकी दोनों देशों के संबंधों को मजबूत बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। एशिया-प्रशांत क्षेत्र में चीन के बढ़ते आर्थिक तथा सैन्य प्रभाव को संतुलित करने करने और दक्षिण तथा मध्य एशिया में आतंक के खतरे से मिलकर निपटने में भारत और अमेरिका के साझा हित हैं।

सिख पॉलिटिकल एक्शन समेटी :सिख पीएसी: के संस्थापक एवं अध्यक्ष खालसा मिडवेस्ट क्षेत्र में भारतीय-अमेरिकी सिख समुदाय के मुखर नेता के तौर पर उभरे हैं।

खालसा ने पीटीआई-भाषा को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘वर्तमान में भारत और अमेरिका स्वाभाविक साझेदार हैं। दोनों की दक्षिण-पूर्वी एशिया में चीन के बढ़ते आर्थिक तथा सैन्य प्रभाव को संतुलित करने में दिलचस्पी है। दोनों ही देशों की पाकिस्तान और अफगानिस्तान जैसे देशों से पैदा होने वाले आतंकवाद से निपटने में रचि है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका के साथ संबंधों को लगातार बेहतर करने में भारत का दीर्घकालिक हित है। खासकर सूचना प्रौद्योगिकी और तकनीकी उद्योगों में हमारी कई साझा कारोबारी प्राथमिकताएं भी हैं।’’