अमेरिकी सीनेटर ने भारत को अत्याधुनिक ड्रोन बेचने की वकालत की

वाशिंगटन, अमेरिका के एक शीर्ष सीनेटर ने भारत को अत्याधुनिक ड्रोन बेचे जाने की जोरदार वकालत करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच यह ‘‘अगला महत्वपूर्ण रक्षा सहयोग’’ होने जा रहा है।

डेमोक्रेट सीनेटर मार्क वार्नर और सीनेट में उनके रिपब्लिकन सहकर्मी डैन सुलिवन ने वाशिंगटन में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि इससे पहले के ओबामा प्रशासन और अमेरिकी कांग्रेस ने भारत को एक महत्वपूर्ण रक्षा सहयोगी का दर्जा दिया था, जो भारत-अमेरिका संबंध को अगले स्तर पर ले जाने की दिशा में एक अहम कदम है।

बहरहाल, दोनों सांसद एशिया प्रशांत क्षेत्र में भारत-अमेरिका सहयोग पर दृढ़ रहे, लेकिन जब बात सीमा पार से आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार पाकिस्तान में आतंकवादियों के सुरक्षित ठिकानों के संबंध में भारत के हित की आई, तो इस मुद्दे पर दोनों थोड़े नरम दिख्।ाई दिए।

सीनेटर सुलिवन ने दलील दी कि भारत और अमेरिका साझा हित के क्षेत्र में संयुक्त सैन्य सहयोग कर सकते हैं।

सीनेट इंडिया कॉकस के सह-अध्यक्ष और शक्तिशाली सीनेट सेलेक्ट कमेटी ऑन इंटेलिजेंस के शीषर्स्थ सदस्य वार्नर ने भारत को अत्याधुनिक ड्रोन बेचे जाने के संबंध में अमेरिकी के रक्षा मंत्रालय और विदेश मंत्रालय की नौकरशाही पर नाखुशी जतायी।

भारत ने समुद्र निगरानी विशेषकर हिंद महासागर के लिये काफी संख्या में अत्याधुनिक ड्रोन खरीदने का अनुरोध किया था।