विशेष बच्चों ने दिखाए अपनी कला के जौहर

शहर के शहीद पार्क पर गुरूवार को मध्यप्रदेश विकलांग सहायता समिति उज्जैन द्वारा मानसिक रूप से दिव्यांग बच्चों के लिए समान भागीदारी के अवसर के उद्देश्य से आयोजित राज्य स्तरीय तीन दिवसीय खेल एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं ‘उल्लास- 2017’ का भव्य उद्घाटन समारोह आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि विशेष बच्चे थे, जिन्होंने उपस्थित अतिथियों के समक्ष अपनी कला के जौहर दिखाए। विशेष बच्चों द्वारा दी गई सुंदर प्रस्तुतियों ने समारोह स्थल पर मौजूद दर्शकों का मन मोह लिया। सभी दर्शकों ने दोनों हाथ उठाकर बच्चों की प्रस्तुतियों पर हौसलाअफज़ाई की।

 कार्यक्रम के शुरूआत में मनोविकास विद्यालय के शिक्षकों द्वारा ‘नतमस्तक हम तेरे दर पर’ प्रार्थना की गई। इसके बाद उल्लास-2017 कार्यक्रम के शुभारंभ की प्रतीक जलती हुए मशाल टावर चौक से विशेष बच्चों द्वारा मंच तक लाई गई। मंच पर मौजूद विशिष्ठ अतिथियों, संचालक फादर टॉम जॉर्ज व फादर जॉश द्वारा मशाल थामी गई। इसके बाद उल्लास समारोह में हर्ष की प्रतीक बॉल विशेष बच्चों द्वारा मंच तक पास की गई।

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, युडीए के अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री महेश परमार, नगर निगम के अध्यक्ष श्री सोनू गेहलोत, स्पोर्ट्स डायरेक्टर स्पेशल ओलंपिक्स भारत, श्री एहतेशाम उद्दीन जुबैद , उपायुक्त सहकारिता श्री मनोज जायसवाल और श्री प्रकाश चित्तौड़ा मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बिशप डॉ. सबॉस्टियन वडकेल ने की। समारोह का संचालन स्वामी मुस्कुराके ने किया। प्रारंभ में स्वागत भाषण फादर टॉम जॉर्ज द्वारा दिया गया। उन्होंने बताया कि विगत 10 सालों से यह आयोजन किया जा रहा है। सभी को समान अवसर और भागीदारी देना हमारा उद्देश्य है। नि:शक्तजन कमजोर नहीं है, बल्कि कई मामलों में सामान्य से बहुत आगे हैं।

    इसके पश्चात मनोविकास विद्यालय के बच्चों द्वारा कई आकर्षक प्रस्तुतियां की गई। मूकबधिर छोटे-छोटे बच्चों द्वारा पुराने व नये फिल्मी गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किए गये। मनोविकास विद्यालय के बालक प्रतीक द्वारा गीत – ‘ये शाम मस्तानी’ प्रस्तुत किया गया। मनोविकास विद्यालय के मूकबधिर बच्चों द्वारा राष्ट्रभक्ति का गीत ‘वंदे मातरम’ नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। आगर मालवा के मनोविकास विद्यालय के बच्चों द्वारा विभिन्न आकृतियां बनाकर नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इसके पश्चात ‘शिव ताण्डव’ नृत्य का प्रस्तुतिकरण किया गया।
समारोह के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आस्ट्रिया में अपनी प्रतिभा का परचम लहराने के लिए फ्लोर बॉल और फ्लोर हॉकी की खिलाड़ी दिव्यांग बालिकाओं, विदुषी व किरण को सम्मानित किया गया। स्पेशल ओलंपिक भारत के मध्यप्रदेश से कोच श्री गोविंद छपरवाल को भी सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है कि इस राज्य स्तरीय खेल-कूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता में विभिन्न संभागों और जिलों से आये कुल 29 विद्यालयों के दिव्यांग बच्चे भाग लेंगे। समारोह में बिशप डॉ. सबॉस्टियन वडकेल ने भी आशिर्वचन दिया और बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।