‘‘राष्ट्रीय स्वदेशी सुरक्षा’’ अभियान में हर भारतीय नागरिक का सहयोग

1 मार्च से 15 मार्च तक हस्ताक्षर अभियान होगा

उज्जैन। जैसे कहा जाता है कि किसी परिवार के सभी सदस्य मिलकर उसे मजबूत बनाते है उसी प्रकार हम सभी भारतीय नगारिक मिलकर ही अपने देश को मजबूत बना सकते हैं इस हेतु स्वदेशी उत्पादों को अपनाना होगा और विदेशी उत्पादों का बहिष्कार करना होगा। इसका सुपरिणाम हमें देश के सर्वागीण विकास के रूप में मिल सकेगा। इसी उद्देश्य को लेकर स्वदेशी जागरण मंच द्वारा राष्ट्रीय स्वदेशी सुरक्षा अभियान देश में चलाया जा रहा है। पत्रकार वार्ता में रूबरू होते हुए मंच के मालवा प्रांत संपर्क प्रमुख व हस्ताक्षर अभियान प्रभारी अशोक शर्मा एवं विभाग दिलीपसिंह चौहान ने संयुक्त् रूप से कहा कि भारत का कुल 190 देशों के साथ अंतर्राष्ट्रीय व्यापार 640 अरब डालर का है। वर्ष 2015-16 में चीन को भारत ने मा. 9 अबर डालर का निर्यात किया जबकि चीन से भारत में 61.8 अरब डालर का आयात हुआ। जिससे हमें 52.8 अरब डॉलर का व्यापार घाटा हुआ जिससे हम पर विदेशी कर्ज लगातार बढ़ रहा है औश्र रूपया कमजोर रहा है जिससे बरोजगारी भी बढ़ रही है। चीनी सामान सस्ता होता है लेकिन इसकी क्वालिटी घथ्टया किस्म की होती है। पदाधिकारीद्वय ने कहा कि स्वदेशी उत्पादों को अपनाने पर हमारे यहां रोजगार की संभावनाएं पैदा होगी और बढ़ेंगी भी लेकिन इसके लिये अपने देश के उत्पादों को अपना आवश्यक है। चीन से हो रहे आयतों के कारण हमारे देश के छोटे बड़े उद्योग बंद होते जा रहे हैं ऐसे में देश को अर्थ सम्पन्न बनाना मुश्किल होता जा रहा है।