चार देशों के 14 लाख बच्चे भुखमरी के कगार पर : यूनिसेफ

संयुक्त राष्ट्र, 21 फरवरी :एएफपी: संयुक्त राष्ट्र की बच्चों पर काम करने वाली एजेंसी का कहना है कि नाइजीरिया, सोमालिया, दक्षिणी सूडान और यमन में इस साल गंभीर कुपोषण से पीड़ित लगभग 14 लाख बच्चों की भुखमरी से मौत हो सकती है।

पिछले करीब दो साल से युद्धग्रस्त यमन में 462,000 बच्चे गंभीर कुपोषण से पीड़ित हैं, जबकि पूर्वोत्तर नाइजीरिया में 450,000 बच्चे गंभीर रूप से कुपोषण के शिकार हैं।

अकाल की पूर्व चेतावनी जारी करने वाली प्रणाली फ्यूज नेट का कहना है कि नाइजीरिया के बोरनो राज्य के दूरदराज के कुछ इलाके पिछले साल से ही भुखमरी से प्रभावित हैं और आपदा आगे भी जारी रखने की आशंका है, क्योंकि सहायता एजेंसियां जरूरतमंद लोगों तक पहुंचने में असमर्थ हैं।

यूनिसेफ की एजेंसी ने कल कहा कि सूखे के कारण सोमालिया के 1,85,000 बच्चे भुखमरी के कगार पर पहुंच गये हैं, जबकि अगले कुछ महीनों में यह आंकड़ा बढ़कर 270,000 तक पहुंचने की आशंका है।

इसी प्रकार दक्षिणी सूडान में 270,000 से ज्यादा बच्चे कुपोषित हैं और यहां उत्तर के कुछ संघीय राज्यों में पहले से अकाल घोषित किया जा चुका है। इस क्षेत्र में 20,000 बच्चे हैं।

यूनिसेफ के निदेशक एंथनी लेक ने त्वरित कार्रवाई की अपील की है। उन्होंने कहा, ‘‘हम अभी भी बहुत से लोगों की जान बचा सकते हैं।’’ बोको हराम के उग्रवादियों के साथ संघर्ष के कारण उत्पन्न मानवीय संकट के बारे में अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान खींचने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के राजदूत अगले माह उत्तरी नाइजीरिया, कैमरून, चाड और नाइजर की यात्रा करने जा रहे हैं।