मायावती के झांसे में ना आये जनता : अखिलेश

उन्नाव,  (भाषा): समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनता को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा समेत किसी भी दल से कोई तालमेल ना करने का दावा जताने वाली बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती के झांसे में नहीं आने की सलाह देते हुए आज कहा कि बसपा की नेता कब किससे समझौता कर ले, कुछ नहीं कहा जा सकता।

मुख्यमंत्री ने बांगरमऊ में सपा प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित चुनावी रैली में कहा ‘‘यह पत्थर वाली सरकार भी धोखा देने के लिये तैयार है। आज आपने अखबार में पढ़ होगा कि हमारी बुआ :मायावती: ने कहा कि हम विपक्ष में बैठेंगे। हम सरकार नहीं बनाएंगे। अभी तो दूसरे चरण का मतदान नहीं खत्म हुआ और वह पहले से ही विपक्ष में बैठने लगीं। याद रखना कि उन्होंने लोकसभा चुनाव में भाजपा को अपना वोट दिलवा दिया था। बहुत सावधान रहना इस पत्थर वाली सरकार की नेता से।’’

उन्होंने कहा ‘‘इस पत्थर वाली सरकार के चक्कर में नहीं पड़ना। यह कब किससे समझौता कर ले, कुछ पता नहीं। वह (मायावती) पहले भी (भाजपा के साथ) रक्षाबंधन मना चुकी हैं, क्या पता, कहीं फिर से ना मना लें।’’मालूम हो कि मायावती ने कल अपनी रैलियों में कहा था कि भाजपा ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलायी है कि बसपा चुनाव के बाद उसके साथ गठबंधन करके सरकार बनाएगी। दरअसल, बसपा किसी भी दल को ना तो समर्थन देगी और ना ही लेगी। इसके बजाय वह विपक्ष में बैठना पसंद करेगी।

अखिलेश ने कहा ‘‘मायावती अब पुलिस को भी धोखा दे रही हैं। कह रही हैं कि वह बार्डर वाला मामला खत्म कर देंगी। तुम :मायावती: पर कौन भरोसा करेगा, वह खुद बार्डर वाला मामला लायी थीं, यह पुलिस के लोग जानते हैं।’’

मुख्यमंत्री ने पुलिस सुधार के लिये अपनी सरकार के प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा ‘‘हमने पुलिस को सबसे ज्यादा गाड़ियां दी। इतनी संख्या में पुलिसकर्मियों को पदोन्नति किसी और ने नहीं दी होगी, ना ही किसी अन्य सरकार ने इतनी भर्ती की होगी। हम लगभग 70 हजार कर्मियों की भर्ती कर चुके हैं। सबसे आसान भर्ती भी हम ही कर रहे हैं।’’

हालांकि अखिलेश ने रिश्वतखोर पुलिसकर्मियों को आगाह भी किया ‘‘हमें आपकी बुराई वाला मामला भी ठीक करना होगा। अगर कभी (धन का) लेन-देन होगा और जनता 100 नम्बर पर शिकायत कर देगी तो वह आपको वह (धन) वापस करना होगा।’’

अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आलू की सबसे बड़ मण्डी कन्नौज में बनने जा रही है। किसी को अगर आलू का कारोबार करना है, तो सरकार आने वाले समय में सुविधा देगी, ताकि आलू का किसान परेशान ना हो। आलू के तमाम कारोबारी हैं। अब तो बाबा रामदेव भी योग छोड़कर थोड़ बहुत इस कारोबार में लग गये हैं। हमने भी उन्हें जमीन दी है, ताकि वह अगर अपने उद्योग के लिये हमारे किसानों से उपज खरीदें।

अखिलेश ने कहा कि उनकी सरकार ने कम से कम विकास की शुरुआत तो की है। लोग मान रहे हं कि उत्तर प्रदेश आगे बढ़ रहा है। हमने घोषणापत्र में जो कर सकते थे, वह किया है। हम और सुधार करेंगे। हम सरकारी भर्ती तो करेंगे ही, साथ ही युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वरोजगार में भी मदद करेंगे।सपा अध्यक्ष ने पार्टी के बागियों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि कुछ लोग सपा के प्रत्याशी को हराने आये हैं। जो लोग साइकिल छोड़कर चले गये थे वे साइकिल को पीछे करने आये हैं। हमें बांगरमऊ की जनता पर हमें भरोसा है, वह ऐसे प्रत्याशियों को सबक सिखाएगी। एक धक्का मार दो ताकि वे एक्सप्रेसवे पर पहुंच जाएं।