मप्र में निवेश परियोजनाओं पर नोटबंदी का असर नहीं : उद्योग मंत्री

इंदौर, निजी क्षेत्र की औद्योगिक निवेश परियोजनाओं पर नोटबंदी के असर को खारिज करते हुए मध्यप्रदेश के वाणिज्य और उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने आज कहा कि सूबे में आगामी छह महीने में बड़ा औद्योगिक निवेश जमीन पर उतरेगा।

शुक्ल ने यहां एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मध्यप्रदेश के आयोजित ‘इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग एक्सपो 2017’ के उद्घाटन के बाद मीडिया के सवाल पर कहा, ‘नोटबंदी का मौजूदा दौर अस्थायी है। लिहाजा इसके आधार पर किसी नतीजे पर पहुंचना ठीक नहीं है। आने वाले चार से छह महीने में सूबे में बड़े निवेश से अलग.अलग औद्योगिक इकाइयां शुरू होंगी।’ उन्होंेने कहा, ‘नोटबंदी से कारोबार और उद्योग जगत में काले धन के इस्तेमाल पर अंकुश लगा है जिससे सरकार का कर राजस्व बढ़ेगा। इस धन से सरकार की विकास और बुनियादी ढांचा योजनाओं में तेजी आयेगी।’ वाणिज्य और उद्योग मंत्री ने नोटबंदी के चलते सूबे में रोजगार के अवसरों में 28 प्रतिशत की कमी के कांग्रेस के दावे को खारिज करते हुए कहा, ‘कांग्रेस की बातें गंभीरता से लिये जाने लायक नहीं हैं, क्योंकि नोटबंदी का विरोध करना उसकी सियासी मजबूरी है। कांग्रेस के पूर्ववर्ती शासनकाल में प्रदेश बीमारू राज्यों की सूची में शामिल था।’