केरल में वर्ष 2016 में बनी नई सरकार

तिरूवनंतपुरम, केरल में इस साल लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट :एलडीएफ: की सत्ता में वापसी हुई लेकिन सरकार, केरल के 21 लोगों की गुमशुदगी, वकीलों द्वारा मीडियाकर्मियों पर हमला और माओवादियों को कथित मुठभेड़ में मार गिराए जाने जैसी घटनाओं के चलते आलोचनाओं से दो-चार होती रही। राज्य ने इस साल अप्रैल में पुतिगंल मंदिर अग्निकांड भी देखा जिसमें 111 लोगों की जान चली गई और कई का अब तक पता नहीं चल पाया है।

राज्य के नीलांबर जंगल में एक महिला समेत दो माओवादियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ में मौत के मामले में एलडीएफ सरकार आलोचनाओं में घिरी। गठबंधन के प्रमुख सहयोगी भाकपा और माकपा के वरिष्ठ नेता वी एस अच्युतानंदन ने परिस्थितियों को ठीक से संभाल नहीं पाने के लिए सरकार की आलोचना की। लेकिन मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने साफ कर दिया कि वह ऐसा कुछ नहीं करेंगे जिससे पुलिस का मनोबल गिरता हो।

केरल उच्च न्यायालय में वकीलों के एक वर्ग ने मीडियाकर्मियों पर हमला किया जिसके बाद उच्च न्यायालय और अन्य निचली अदालतों में कार्यवाही के कवरेज पर रोक लगा दी गई। अदालती कार्यवाही के कवरेज को लेकर पत्रकारों के लिए दिशानिर्देश भी तैयार किए गए।

कोल्लम जिले के पारावुर के पुतिंगल मंदिर में 10 अप्रैल को दुखद हादसा हुआ। यहां आतिशबाजी के दौरान हुए विस्फोट में 111 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में लापता हुए कई लोगों का अब तक पता नहीं चल पाया है।

आवारा कुत्तों के आतंक से केरल खौफजदा रहा। राज्य के कई हिस्सों में बड़ी संख्या में आवारा कुत्तों को मौत के घाट उतार दिया गया। साल के अंत में पद्मनाभ स्वामी मंदिर तब विवादों में घिरा जब मंदिर के कार्यकारी अधिकारी ने महिलाओं को मंदिर में सलवार कमीज और चूड़ीदार पहनकर आने की मंजूरी दी जिसका प्रशासनिक समिति ने विरोध किया। फिलहाल केरल उच्च न्यायालय ने इस आदेश पर रोक लगा रखी है।

मंदिर में महिलाओं को प्रवेश से पहले परंपरागत परिधान ‘मुंडु’ :धोती: लपेटना जरूरी होता है।

सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा का मंदिर नाम बदलने के लिए चर्चित हुआ। त्रावणकोर देवासोम बोर्ड की इस पहल को सरकार ने ‘‘नियमों का गंभीर उल्लंघन’’ करार दिया। समझा जाता है कि मंदिर 1,800 साल पहले बनाया गया था। सरकार ने कहा कि राज्य में सर्वाधिक प्राचीन एवं बड़े मंदिरों में से एक इस मंदिर को ‘‘श्री धर्म संस्था मंदिर’’ कहा जाता है और बोर्ड को यह नाम बदलने का कोई अधिकार नहीं है।

जुलाई माह में मुख्यमंत्री ने विधानसभा को बताया कि जून माह से राज्य से 21 मुस्लिम युवा लापता हैं । उन्होंने अंदेशा जताया कि ये युवा संभवत: इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गए हैं।

कोल्लम और मल्लापुरम अदालत परिसरों में कम तीव्रता वाले आईईडी विस्फोट हुए।

मई में विजयन पहली बार मुख्यमंत्री बने।