बैंक और एटीएम में दूसरे दिन लोगों की लंबी कतारे बनी रहीं

उज्जैन ,  बाजार में चलन से बाहर किये गये 500 और हजार रपये के नोटों को नये नोटों से बदलने और अपने खातों से नकदी निकालने के लिए दूसरे दिन आज भी बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की लंबी कतारे लगी रहीं ।

उज्जैन पुलिस ने भारी भीड़ को देखते हुये बैंकों और एटीएम के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। लोग आज कामकाजी दिन होने के बावजूद नगदी बदलवाने के लिए बैकों की कतार में खड़े इंतजार कर रहे हैं।

हालांकि शहर की अनेक एटीएम मशीनों में नगदी नहीं होने से लोग थोड़े आक्रोशित भी हुये। बैंक अधिकारियों ने बताया कि एटीएम मशीनों में अभी नये नोट नहीं रखे गये हैं।

नगदी लेने के लिए महिलाओं समेत बुजुर्ग लोग भी अपने इलाके की एटीएम की मशीनों पर खड़े हैं, लेकिन मशीनों में अभी तक नगदी नहीं होने से लोग थोड़े निराश भी दिख रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि शहर के अनेक इलाकों के एटीएम में अभी नगदी पहुंचायी जानी बाकी है। नगदी से भरे होने वाले एटीएम ने भी बहुत थोड़ी देर ही काम किया, क्योंकि सुबह से ही एटीएम के सामने पैसे निकालने वालों की भीड़ जमा थी। बैंकों के सामने भी पुराने 500 और हजार रपये के नोट बदलवाने वालों की लंबी कतारे लगी हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी घोषणा में लोगों से बड़े नोट निकालने को कहा था, क्योंकि 500 और 2,000 रपये के नये नोटों को भरने के लिए बुधवार को बैंकों को बंद रखने के निर्देश दिये गये थे।

स्थिति से निपटने के लिए बैंको को शनिवार और रविवार को बैंक खोलने के लिए कहा गया है। आज से एटीएम ने भी काम करना शुरू कर दिया है, लेकिन फिलहाल 2,000 रपये प्रतिदिन निकालने की सीमा निश्चित है। आने वाले सप्ताह में रपये निकालने की यह सीमा बढ़ाने जाने की उम्मीद है।