कलश यात्रा निकली

उज्जैन। कालिदास समारोह 10 नवम्बर से प्रारम्भ होगा। कालिदास समारोह के पूर्व रंग के रूप में 9 नवम्बर को मंगल घट की स्थापना की गई। मंगल घट स्थापना के लिये भव्य और आकर्षक कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा पुण्यसलिला शिप्रा तट रामघाट से प्रारम्भ हुई तथा नगर के प्रमुख मार्गों से होकर कालिदास अकादमी पहुंची। कालिदास समारोह के लिये नगर को आमंत्रण देने हेतु यह कलश यात्रा निकाली जाती है। कालिदास अकादमी पहुंचने पर कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने कलश यात्रा का स्वागत किया। इस अवसर पर कालिदास संस्कृत अकादमी के निदेशक श्री पी.के.झा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

नगर के प्रमुख मार्गों से निकली भव्य कलश यात्रा में शहर के विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया तथा तैय्यबी स्कूल के छात्र-छात्राओं द्वारा गोपाल मन्दिर पर कलश यात्रा का स्वागत किया। कलश यात्रा में असम के नर्तकों द्वारा बिहू नृत्य का तथा सागर के नर्तकों द्वारा बधाई बुंदेलखंडी लोकनृत्य प्रस्तुत किया गया। कलश यात्रा में जहां कालिदास के विभिन्न चित्रों का प्रदर्शन किया गया, वहीं कानग्वाला नृत्य करते हुए मण्डली भी निकली। सरस्वती विद्या मन्दिर ऋषि नगर द्वारा कालिदास के नाटकों पर आधारित झांकी निकाली गई।